Published On : Fri, Mar 6th, 2020

नागपुर के यस बैंक में ग्राहको की भीड़, ग्राहकों में जबरदस्त डर

नागपुर- रिजर्व बैंक ने गुरुवार को सरकार से मशविरा करने के बाद यस बैंक पर रोक लगायी और उसके निदेशक मंडल को तत्काल प्रभाव से भंग कर दिया है. वहीं बैंक के ग्राहकों पर भी 50,000 रुपये मासिक तक निकासी करने की रोक लगायी है. पुरे देश में वे ग्राहक परेशान हो रहे है. जिनके इस बैंक में खाते है. नागपुर शहर के सिविल लाइन्स स्थित में भी सुबह से ही ग्राहक पहुंचने लगे थे. बैंक के भीतर भी रोजाना से ज्यादा भीड़ दिखाई दी. इसके साथ ही बैंक का पूरा स्टाफ ग्राहकों को मार्गदर्शन करते हुए दिखाई दिया. ग्राहक अब डरने लगे है की कई उनका भी पैसा कही अन्य बैंको की तरह डूब न जाए.

यस बैंक किसी भी तरह का नया ऋण वितरण या निवेश भी नहीं कर सकेगा. वित्त मंत्री ने जोर देकर कहा कि बैंक के ग्राहक 50,000 रुपये की सीमा में पैसे निकाल सकें, यह सुनिश्चित करना सबसे पहली प्राथमिकता है.

अगले एक महीने के लिए रिजर्व बैंक ने भारतीय स्टेट बैंक के पूर्व मुख्य वित्त अधिकारी प्रशांत कुमार को यस बैंक का प्रशासक नियुक्त किया है. वहीं देश के सबसे बड़े बैंक एसबीआई के निदेशक मंडल ने नकदी संकट से जूझ रहे यस बैंक में निवेश के लिए ‘सैद्धांतिक’ स्वीकृति दे दी है.