Published On : Sat, Jun 27th, 2015

यवतमाल : शराब बंदी के लिए महिलाओं ने सौंपा थानेदार को ज्ञापन


memo submited for Ban liqour
उमरखेड (यवतमाल)।
तहसील के अमानपुर में खुले आम अवैध शराब बिक्री शुरू है. जिससे कई परिवारों का आर्थिक नुकसान हो रहा है तो कई परिवार सड़कों पर आ गए है. इस समस्या की ओर प्रशासन ध्यान दे और गांंव में शराब बंदी लागु करे. इस मांग को लेकर अमानपुर की महिलाओं ने थानेदार को ज्ञापन सौंपा अगर ऐसा नही किया गया तो आमरण अनशन करने का इशारा महिलाओं ने दिया है.

तहसील के अमानपुर में 90 प्रतिशत लोग शराब के आदि हुए है. इसका कारण अवैध शराब बिक्री है. पुरुष शराब पीकर घर के सदस्यों को मानसिक और शारीरिक यातनाये देते है. इससे आर्थिक स्थिति भी बिगड़ चुकी है. इसका हल निकालने ने के लिए महिलाओं ने गोर सेना कार्यकर्ताओं से मिलकर पुलिस थाने में थानेदार शिवाजी बचाटे को शराब बंदी लागू करने के लिए ज्ञापन सौंपा.

इस दौरान महिलाओं के साथ सरपंच नही थे. थानेदार ने तुरंत अवैध शराब बिक्रेताओं पर करवाई करने के आदेश दिए है. इस समय अमानपुर की प्रगति महिला बचत गट, सेवादल महिला बचत गट, अनुसया माता महिला बचत गट, सरस्वती महिला बचत गट, सामका माता महिला बचत गट, समेत गोर सेना के मनोहर आड़े, शिवलाल राठोड तथा अन्य कार्यकर्ता उपस्थित थे.