Published On : Mon, Mar 16th, 2020

वाई- पंचधारा गाँव नागरिकों को ‘वर्ग- 1’ के पट्टे दिये जाएगें

– जिप सदस्य सलिल देशमुख के प्रयासों की सफलता

काटोल: पुनर्वासित गाँव वाई तथा पंचधर के नागरिकों की खेती तथा निवासी घर जाम नदी परियोजना में गये थे!जिसके लिये यहां के नागरिकों को राजस्व विभाग द्वारा वर्ग दो के पट्टे दिये गये थे.जिसके परिणामस्वरूप,स्थानिय नागरिकों को अनेक कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा था।

इस समस्या को सुलझाने के लिये स्थानिय नागरिकों ने इस संबंध में, इस क्षेत्र में जिला परिषद सदस्य सलिल देशमुख से समस्या हल करने के लिये निवेदन दिये थे!स्थानिक नागरिकों के समस्या को लेकर पुनर्वास के लिए जिला कलेक्टर को एक अनुरोध प्रस्तुत किया था और अनुरोध किया था कि सभी को स्वामित्व पट्टों को वर्ग 2 से वर्ग1 में स्थानांतरित किया जाए। इस संबंध में, डिप्टी कलेक्टर, पुनर्वास, द्वारा कटोल के उप-विभागीय अधिकारी को वर्ग 2 से वर्ग1 के पट्टे के लिए कार्रवाई करने का आदेश दिया।

तथा प्रभावित गाँव जाम परियोजना के अंतर्गत हैं और उन्हें उसी गावठाण क्षेत्र में पुनर्वासित किया गया है। यह गांव 1995 में गांव का पुनर्वास किया गया था। तब उस समय कुछ प्रतिबंध लगाए गए थे. तब नागरिकों को मकान बनाने के लिए पट्टा दिया गये थे।

उनमें से कई की मौत हो चुकी है। मृत्यु के बाद, उन्हें अपने उत्तराधिकारियों के नाम पर पट्टा प्राप्त करने की उम्मीद थी। लेकिन बाधाओं के कारण, कोई बक्षिस पत्र या संशोधन नहीं हुआ, इस गांव के नागरिक कई सरकारी योजनाओं से वंचित रहना पडता था।


इस मुद्दे को जिला परिषद चुनाव के दौरान नागरिकों द्वारा सलिल देशमुख के ध्यान में लाया गया था। उस समय, सलिल देशमुख ने नागरिकों को आश्वासन दिया था कि वे चुनाव के तुरंत बाद इस मामले को सुलझा लेंगे। चुनाव के अंत में, सलिल देशमुख ने इस संबंध में उप जिला पुनर्वास अधिकारी के साथ बैठक की और उपरोक्त मुद्दे की गंभीरता से लेकर सलिल देशमुख द्वारा डिप्टी कलेक्टर को एक ज्ञापन भी दिया गया। जिसमें बताया गया था की
1995 में काचरिसवांगा गांव का भी पुनर्वास किया गया था।

हालाँकि, पट्टे के स्वामित्व के कारण, इसे भागवतदार वर्ग02 से भागवतदार वर्ग 01 में स्थानांतरित करने की मांग की गयीतथा उप जिल्हाधिकारी के साथ बैठक के दौरान, सलिल देशमुख ने उप जिला पुनर्वास अधिकारी से भोगवाटदार वर्ग दो से उसी भूमि वर्ग एक जमा करने का अनुरोध किया।इस विषय पर डिप्टी कलेक्टर ने हाल ही में काटोल के एस डी ओ को इस संबंध में कार्रवाई करने का निर्देश दिया है।

इससे अब वाई और पंचधारा गांवों के नागरिकों को बड़ी राहत मिली है। विशेष रूप से, प्रक्रिया के दौरान, स्वामित्व पट्टे के नाम पर है। दोनों ग्राम सरपंचों, उप-सरपंच ग्राम पंचायत सदस्यों और नागरिकों ने पिछले कई वर्षों से रूके इस कार्य मे सफलता मिलने पर नागरिकोंने ने आभार माना गया है. इस अवसर पर जि प सदस्य सलील देशमुख, जयंत टालाटूले, डा अनिल ठाकरे साथ जनप्रतिनी उपस्थित थे!