Published On : Wed, May 15th, 2019

मूक प्राणियों के पिने पानी के लिये 151 टांके लगाएंगे

प्राणियों के प्रति समर्पित है पुलक मंच परिवार

नागपुर: नागपुर की गर्मी चिलचिलाहट के हर किसी व्यक्ति को प्यास लगती लेकिन मूक प्राणी बोल नही सकते प्यास लगने के बाद लंबी दूरी पर पानी ढुंढना पडता है इस उद्देश्य लेकर अखिल भारतीय पुलक जन चेतना मंच और राष्ट्रीय जैन महिला जागृति मंच महावीर वार्ड नागपुर शाखा ने मूक प्राणियों के लिये पानी पीने के 151 पानी के लगाने का संकल्प किया है. मूक प्राणी पानी के लिये तडपे नही इसलिये भारत गौरव राष्ट्रसंत मुनिश्री पुलकसागरजी गुरुदेव के 49 वे अवतरण दिवस के उपलक्ष मे आयोजित पुलक पर्व से मुहीम छेड़ दी है. इसका शुभारंभ श्री. दिगंबर जैन सेनगण मंदिर के अध्यक्ष सतीश जैन पेंढारी, श्री. दिगंबर जैन नि:सही संस्थान के अध्यक्ष सुरेशभाऊ आग्रेकर, सुप्रसिद्ध मोटिवेटर संजय नखाते के प्रमुख उपस्थिती मे संपन्न हुआ. इस अवसरपर सतीश जैन पेंढारी ने कहा यह बहुत अच्छा उपक्रम है. मूक प्राणियों के लिये सभी व्यक्तियों ने सेवा का भाव रखना चाहिये. इस शाखा की हमेशा नई-नई संकल्पना और नई-नई सोच रहती है. कुछ नया और कठिन कार्य पुलक मंच के कार्यकर्ता आसानी से कर लेते है. प्राणियों के सेवा का भाव मन मे रहना जरूरी है. मन मे संवेदना रही कार्य होता यह पुलक मंच एकमात्र का संगठन है जिन्होने कर दिखाया है. मुनिश्री पुलकसागरजी के भक्त अच्छा कार्य कर रहे है इन कार्यकर्ताओं को किसी प्रमाणपत्र की जरुरत नही है. पानी के टांके नागपुर मे लगाना जारी है. जिस व्यक्ति को चाहिये उसे नि:शुल्क उपलब्ध कर दिया जा रहा है बस उस व्यक्ति को प्रतिदिन टांके मे पानी भरना है उसकी साफसफाई रखना है.

इस उपक्रम के लिये पुलक मंच परिवार के राष्ट्रीय सांस्कृतिक मंत्री मनोज बंड संयोजन मे संयोजन समिति बनाई गई है जिसमे शरद मचाले, कुलभुषण डहाले, नरेश मचाले, रमेश उदेपुरकर, अनंतराव शिवणकर, प्रकाश उदापुरकर है. सोशल मीडिया के माध्यम से लोगो तक जानकारी दी जा रही है उसे अच्छा प्रतिसाद मिल रहा है. नागपुर मे पुलक मंच के महावीरनगर स्थित कार्यालय के पहला टांका प्राणियों के लिये समर्पित किया है. शेषनगर, खरबी रोड, न्यू सहकारनगर, रमना मारोती के पीछे, इंदिरा भोसले कॉलोनी तुलसीबाग, झंडा चौक महल, गणेशपेठ, बजाजनगर, गणेशनगर, जूनी शुक्रवारी मे लगाये रखे है और रखना जारी है. जिस व्यक्ति को टांका चाहिये या सहयोग करना है वह मनोज बंड से मो. 88066 67753 पर संपर्क कर सकते है.

कार्यक्रम का संचालन मनोज बंड, प्रास्ताविक शरद मचाले ने किया. कुलभुषण डहाले, अनंतराव शिवणकर, प्रकाश उदापुरकर, नरेश मचाले, रमेश उदेपुरकर, अमोल भुसारी, संजय पांडवकर, निलय मुधोलकर, सुरेश महात्मे, छाया उदापुरकर, शुभांगी लांबाडे, विभा भागवतकर, मंगला शिवणकर, स्वाति तुपकर आदि उपस्थित थे.