Published On : Wed, Jul 13th, 2016

फॉच्यरून मॉल का पानी कटेगा

दमकल विभाग का नोटिस, आग बुझाने की व्यवस्था नहीं करने पर कटेगी बिजली
डेढ़ दर्जन अस्पतालों को भी नोटिस  

The facade of Fortune Mall
नागपुर:
आग से निपटने की व्यवस्था नहीं होने के मामले में डेढ़ दर्जन के करीब अस्पतालों को भी दमकल विभाग ने नोटिस जारी किया है. सक्करदरा, उमरेड रोड परिसर, लकड़गंज, सोमलवाड़ा आदि परिसर के इन अस्पतालों में दमकल उपकरण नहीं लगाए गए हैं. इसमें से कुछ अस्पतालों को असुरक्षित घोषित करने की तैयारी भी कर ली गई है. आग से निपटने की व्यवस्था नहीं।

दमकल विभाग के प्रमुख राजेंद्र उचके ने बताया कि मॉल में आग से निपटने के लिए कुछ उपकरण लगाए गए हैं. लेकिन वे बिलकुल भी नहीं चलते. फायर इश्टिंग्युशर तक नहीं हैं. यहां कपडे. की दुकान है. आग लगने की आशंका सर्वाधिक है. नागरिकों को खतरा हो सकता है. इसी वजह से धारा 8 के उपनियम (1) अंतर्गत पानी काटने का नोटिस जारी किया गया है. फिर भी व्यवस्था नहीं की गई तो बिजली काटने की भी कार्रवाई करेंगे.

तीन नोटिस जारी किए जाने के बाद भी सीताबर्डी, मुंजे चौक पर मौजूद फॉच्यरून मॉल में आग से निपटने के पर्याप्त व्यवस्था नहीं की गई है. इसी वजह से महाराष्ट्र आग प्रतिबंधक व जीवनरक्षक उपाय योजना अधिनियम 2006 की धारा 8 की उपनियम (1) के अंतर्गत मॉल का पानी काटने संबंधित नोटिस जारी किया गया है. दमकल विभाग की तरफ से मंगलवार की देर शाम नोटिस जारी किए जाने की खबर है. संभवत: यह नोटिस मॉल संचालकों को बुधवार को मिले. पानी काटने के बाद भी मॉल संचालकों ने अगर पर्याप्त व्यवस्था नहीं की तो बिजली भी काटने की तैयारी दमकल विभाग ने कर ली है.

वार्ड नंबर 3, खसरा क्रमांक 317, सिटी सर्वे क्रमांक 3110, 3111, 3112 की जमीन मौजा सीताबर्डी, मुंजे चौक की जमीन सुभाष बूटी और जे.जी. बूटी की है. इसकी पॉवर ऑफ अटर्नी छगनलाल के. पटेल के पास है. संबंधित मॉल बिजनेस कम र्मकन्टाइल इमारत की श्रेणी में रखा गया है. दुकानें व कार्यालय हैं. यहां आग से निपटने के उपकरण लगे हैं. पर वह चालू हालत में नहीं हैं. इतना ही नहीं सामान्य इश्टिंग्युशर तक नहीं है. इसी वजह से दमकल विभाग की तरफ से संबंधित मॉल संचालक को 26 अगस्त 2015 को पहला नोटिस तथा 1 सितंबर 2015 को दूसरा नोटिस जारी किया गया था. फिर भी मॉल संचालकों ने नोटिस को तवज्जो नहीं दिया. इसी वजह से 27 मई 2016 को फाइनल नोटिस जारी कर फिर से कुछ समय दिया गया, ताकि आग से निपटने की पर्याप्त व्यवस्था की जा सके.

फिर भी नोटिस का संज्ञान नहीं लेने की स्थिति में पानी काटने संबंधित नोटिस 12 जुलाई 2016 को जारी किया गया है. देर शाम को नोटिस पर दमकल विभाग प्रमुख राजेंद्र उचके द्वारा हस्ताक्षर किए जाने की खबर है.

– राजीव रंजन कुशवाहा