Published On : Thu, Apr 23rd, 2015

आलापल्ली : वेतन श्रेणी के लिए वनसंघटनाओं की सभा

meeting of Wan sanghtna  (1)
आलापल्ली (गड़चिरोली)। वनरक्षक और वनपाल के अन्यायकारक वेतन श्रेणी के लिए गड़चिरोली वनवत्ता अंतर्गत कार्यरत सभी वनसंघटओं की संयुक्त सभा आलापल्ली में वनसंपदा सभागृह में आयोजित की गई थी. इस सभा के अध्यक्ष स्थान पर वनरक्षक-पदोन्नत वनपाल संघटना राज्य कार्याध्यक्ष अशोक अड़गोपुलवार थे. प्रमुख अतिथि राज्य संघटक सुनील सोनटक्के, क्रोष्ट्राईब वनसंघटना के राज्य महासचिव प्रभाकर सोंडावले, अखिल भारतीय वनाधिकारी महासंघ नई दिल्ली के उप महसचिव गाजी भाई शेख, वनरक्षक-वनपाल संघटना के राज्य संघटक चंद्रशेखर तोम्बर्लावार, राजेश पिंपलकर आदि अन्य उपस्थित थे.

अशोकभाऊ अड़गोपुलवार ने कहां कि गत 30 वर्षो से वनरक्षक और वनपाल के वेतन श्रेणी के लिए सरकार अन्याय कर रही है. इस लिए अभी महाराष्ट्र में कार्यरत सभी वनसंघटना ने एक मंच पर आकर सभी संघटना महासंघ निर्माण करने का आवाहन महाराष्ट्र के सभी वनकर्मचारी संघटना, वनरक्षक और वनपाल ने किया. तथा वेतनश्रेणी के मुद्दे पर वनमजुर संघटना ने अपने कंधे से कंधा मिलकर साथ होने का किशोर सोनटक्के ने जाहिर किया. सभी संघटनाओं के एकसंघ से अभी वेतनश्रेणी पर अन्याय दूर होगा ऐसा आशावाद प्रभाकर सोंडावले ने व्यक्त किया.

इस दौरान वेतन श्रेणी के भविष्य की लड़ाई लड़ने के लिए वनरक्षक, वनपाल, वनमजुर महासंघ महाराष्ट्र राज्य की स्थापना की गई. गडचिरोली वनवृत्त के कार्यकारिणी गठित की गई. इस कार्यकारिणी के जिला अध्यक्ष योगेश शेरेकर, कार्याध्यक्ष सुनील गिरसावडे, महासचिव सिद्धार्थ मेश्राम, उपाध्यक्ष-पूनम बुद्धावार, हरीश दहगावकर, अनंत ठाकरे कोषाध्यक्ष, विजय सोनवने सदस्य शिवाकांत पवार, स्मिता गोगले, रामचंद्र टोकला आदि का चुनाव हुआ. वेतनश्रेणी की लड़ाई का नियोजन करने के लिए सर्वाधिकार सभी संघटना ने एक मतों से महासंघ को दिया है.

meeting of Wan sanghtna  (2)
सभा का संचालन संतोष पडालवार ने किया तथा आभार प्रदर्शन नितिन कुमरे ने किया. इस सभा के लिए वडसा, गडचिरोली, भामरागड, सिरोंचा, आलापल्ली, वन्यजीव विभाग, वनविकास महामंडल के सैकड़ों वनरक्षक-वनपाल उपस्थित थे. सभा की सफलता के लिए बालू मडावी, प्रदीप घुटे, ईश्वर मांडवकर, लक्ष्मण गंजीवार, नागोराव सीडाम, गेडाम, साबले ने किया.