Published On : Sat, Jun 9th, 2018

जिले में किसानों का गांवबंदी आंदोलन

नागपुर : कृषि उत्पादक संघ की ओर से देश भर में चल रहे किसान आंदोलन का समर्थन करते हुए गत दिनों मौदा तहसील अंतर्गत भेंडाला गांव में ‘गांव बंदी’ आंदोलन किया गया.कृषि उत्पादक संघ के राष्ट्रीय महासचिव संदीप अग्रवाल ने भेंडाला ग्राम पहुँच वहां उपस्थित किसानों की बैठक ली.उपस्थित किसानों को सम्बोधित करते हुए उन्होंने कहा कि देशभर में चल रहे किसान आंदोलन को सफल बनाने हेतु सभी किसानों ने अपने-अपने स्तर से अपने हक़ के लिए आंदोलन में भाग लेना चाहिए। जब तक किसान संगठित नहीं होंगा तब तक सरकार नहीं जागेंगी।किसानों को बदहाली की जिंदगी से बचाने हेतु कृषि उत्पादनों और दूध का गांव बंदी आंदोलन करना चाहिए।

सम्पूर्ण देश में किसान अपने-अपने खेत के उत्पाद,दूध सड़क पर फेंक सरकार की किसान विरोधी नीति के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं.इस तरह के विरोध प्रदर्शन को अग्रवाल ने उचित न ठहराया।आंदोलन का अनोखा रुख अख्तियार करते हुए भेंडाला गांव के किसानों ने दूध संकलन करने आई वाहनों को लौटा दिया। और जमा दूध से खीर तैयार कर ग्रामवासियों को खिलाया।संघ के जिलाध्यक्ष लक्ष्मण मल्लीपेड्डी ने किसानों से एकजुटता प्रदर्शन करने की अपील की.

भेंडाला ग्राम की सरपंच शिला कुबेर ने किसानों से अपनी फसल व सब्जियां आंदोलन के दौरान जरूरतमंद ग्रामवासियों में मुफ्त में बाँटने की अपील की.आंदोलन में देवराव ठोसरे,देवराव बागड़कर,राजू लाटकर,देवराव दुबे,उपसरपंच जीतेन्द्र समर्थ,एस एम कुमरे,उत्तम लेंडे,संजय संभरकर,रत्नमाला माटे,रायबान फुलझेले,अशोक महाजन,वनिता ठोसरे आदि सक्रिय थे.