| | Contact: 8407908145 |
    Published On : Mon, Sep 10th, 2018

    भारत बंद को नागपुर में जनता का मिला प्रतिसाद

    नागपुर : पेट्रोल-डीजल की लगातार बढ़ रही कीमतों,राफेल डील,मँहगाई,भ्रस्टाचार के विरोध में कांग्रेस द्वारा बंद कराये गए बंद का शहर में असर देखने को मिला। नागपुर में शहर कांग्रेस कमिटी के अध्यक्ष विकास ठाकरे और अन्य नेताओं के साथ पार्टी कार्यकर्त्ता सड़को पर उतरे और प्रमुख बाजारों को बंद कराया गया। शहर भर के अलग-अलग इलाकों में हुए प्रदर्शन के दौरान पार्टी कार्यकर्ताओं ने दुकानदारों से बंद का समर्थन माँगा जिसका उन्हें प्रतिसाद भी मिला।

    शहरध्यक्ष के साथ पूर्व केंद्रीय मंत्री विलास मुत्तेमवार,मुकुल वासनिक,और अनुसूचित जातिजनजाति प्रकोष्ठ के अध्यक्ष डॉ नितिन राउत,पार्टी के युवा नेता विशाल मुत्तेमवार के साथ शहर के ताल्लुख रखने वाले सभी प्रमुख नेताओं ने बंद आंदोलन की शुरुवात पश्चिम नागपुर के रामनगर चौक से हुई। यहाँ से पैदल निकले नेता और कार्यकर्ताओं ने रामनगर,धरमपेठ,शंकरनगर चौक के बाजारों को बंद कराया जिसके बाद ये सभी वेरायटी चौक पहुँचे जहाँ शहर के प्रमुख बाजारों में से एक सीताबर्डी मार्केट को बंद कराया गया।

    आंदोलन की शुरुवात से पहले कार्यकर्त्ता संविधान चौक पर एकत्रित हुए। जिसके बाद नेता अपने अपने ईलाके में बंद को सफ़ल बनाने के लिए निकल गए। इस बंद को पेट्रोल पंप मालिकों ने भी समर्थन दिया। संविधान चौक स्थित कंपनी पेट्रोल पंप के साथ शहर भर में लगभग पंप बंद रहे। आज राज्य में छुट्टी का दिन है इसलिए शहर में भीड़ कम थी लेकिन जो लोग सड़को पर वाहनों के साथ निकले उन्हें पेट्रोल-डीजल भरवाने के लिए दिक्कतों का सामना करना पड़ा।

    इस बंद को सफल बनाने के लिए शहर कांग्रेस द्वारा सभी ब्लॉक प्रमुखों को पार्टी द्वारा आदेश दे दिया गया था। जिस वजह से आंदोलन का असर शहर भर में दिखाई दिया। कार्यकर्ताओं ने सभी विधानसभाओं के अंतर्गत आने वाले प्रमुख बाजारों को बंद कराया और केंद्र सरकार के ख़िलाफ़ प्रदर्शन किया। पार्टी के वरिष्ठ नेता विलास मुत्तेमवार ने जनता से इस बंद को राजनीतिक कारणों के बजाये अपने हित के लिए जरुरी होने की बात कहते हुए इसे सफल बनाने की अपील भी की।

    पार्टी प्रवक्ता अतुल लोंडे और महाराष्ट्र प्रदेश कांग्रेस कमिटी के सचिव उमाकांत अग्निहोत्री के नेतृत्व में पूर्व नागपुर में प्रदर्शन किया गया। इस प्रदर्शन में कांग्रेस के अलावा राष्ट्रवादी कांग्रेस,महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना,समाजवादी पार्टी के साथ शेतकरी संगठन भी शामिल हुई। तन्हा पोले के अवसर पर निकाले जाने वाले बडग्या के माध्यम से सामाजिक बुराईयों और सरकार की जनविरोधी नीतियों की आलोचना की जाती है। पेट्रोल के बढ़ते दाम महँगाई,भ्रस्टाचार इस उत्सव के हमेशा प्रमुख मुद्दे रहे है। एक तरह से कांग्रेस पार्टी द्वारा आयोजित बंद की तारीख ने नागपुर में इस उत्सव के चलते जनता की तकलीफ़ को पुख़्ता ढंग से प्रदर्शित करने अवसर प्रदान कर दिया।

    मारबत उत्सव और कांग्रेस के प्रदर्शन के चलते शहर भर में पुलिस का कड़ा बंदोबस्त लगाया गया है। चौक-चौक पर पुलिसकर्मी तैनात रहकर हालात पर नज़र बनाये हुए है। देवडिया कांग्रेस भवन से शुरू हुआ ये आंदोलन सोमवार को दिन भर चलेगा।

    Trending In Nagpur
    Stay Updated : Download Our App
    Mo. 8407908145