Published On : Thu, Dec 21st, 2017

पहली बार रणजी ट्रॉफी फाइनल में पहुंच विदर्भ ने रचा इतिहास

कोलकाता। रजनीश गुरबानी (68 रन पर सात विकेट) की कातिलाना गेंदबाजी से विदर्भ ने रोमांचक सेमीफाइनल मुकाबले में कर्नाटक को पांच रन से शिकस्त देकर पहली बार रणजी ट्रॉफी फाइनल में प्रवेश कर इतिहास रच दिया है। फाइनल में विदर्भ का मुकाबला दिल्ली से होगा।

एस गोपाल (नाबाद 23) और अभिमन्यु मिथुन (33) ने नौवें विकेट के लिए 48 रन की साझेदारी कर अपनी टीम को जीत दिलवाने की भरसक कोशिश की, लेकिन वह इसमें सफल नहीं हो सके। 198 रन के लक्ष्य का पीछा करने उतरी कर्नाटक टीम अन्तिम दिन केवल 192 रन पर ही ढेर हो गई। कर्नाटक की ओर से कप्तान विनय कुमार 48 गेंदों पर पांच चौकों और एक छक्कों की मदद से 36 बनाए।

कर्नाटक के लिए दूसरी पारी में करूण नायर ने 41 गेंदों पर चार चौकों की मदद से 30 रन, ओपनर रविकुमार समर्थ ने 65 गेंदों पर दो चौकों की मदद से 24 तथा विकेटकीपर जीएम गौतम ने 53 गेंदों पर तीन चौकों और एक छक्के की सहायता से 24 रन का योगदान दिया।

विदर्भ के लिए रजनीश गुरबानी ने 68 रन पर सात विकेट, एसएस नेरल ने 37 रन पर दो विकेट और उमेश यादव ने 65 रन पर एक विकेट हासिल किए। इससे पहले विदर्भ ने मैच के चौथे दिन चार विकेट पर 195 रन से आगे खेलते हुए 313 रन बनाकर कर्नाटक को जीत के लिए 198 रन का लक्ष्य दिया। विदर्भ के लिए गणेश सतीश ने 168 गेंदों पर 10 चौकों की मदद से 81 रन बनाए।

इसके अलावा आदित्य सरवर्ते ने 92 गेंदों पर पांच चौकों और एक छक्के की मदद से 55, अपूर्व वानखेडे ने 48 गेंदों में नौ चौकों की सहायता से 49 और वसीम जाफर 48 गेंदों पर पांच चौकों की बदौलत 33 रन का योगदान दिया।