Published On : Tue, Feb 20th, 2018

विक्की कुकरेजा होंगे अगले स्थाई समिति सभापति

Advertisement

Vicky Kukreja
नागपुर: नागपुर महानगरपालिका के स्थाई समिति का वर्ष 2017-18 का कार्यकाल इसी महीने के अंत में समाप्त हो रहा है. अगले आर्थिक वर्ष 2018-19 के लिए नई स्थाई समिति के लिए आमसभा में 8 नए सदस्यों का चयन किया गया है. चयनित सदस्यों में भाजपा के युवा नगरसेवक वीरेंद्र उर्फ़ विक्की कुकरेजा का समावेश है. आमसभा में महापौर की घोषणा के बाद कुकरेजा ही अगले स्थाई समिति के सभापति होना तय माना जा रहा है. समिति में उनके नाम होने की जानकारी सामने आते ही कुकरेजा को मुबारकबाद देने का सिलसिला शुरू हो गया.

सत्तापक्ष के शीर्ष नेताओं ने मनपा चुनाव के बाद ही मनपा के सभी बड़े पदों पर पश्चिम और दक्षिण-पश्चिम नागपुर के नगरसेवकों को प्रधानता दी थी. जिसमें महापौर और सत्तापक्ष नेता पद दक्षिण-पश्चिम और स्थाई समिति सभापति का पद पश्चिम नागपुर के प्रतिनिधियों को दिया गया. आगामी लोकसभा चुनाव के मद्देनज़र इस बार कुछ फेरबदल कर उत्तर नागपुर से स्थाई समिति सभापति बनाए जाने का भाजपा नेताओं ने तय किया. ऐसे में दोनों भाजपा नेताओं के करीबी प्रभाग क्रमांक 1 के भाजपा नगरसेवक विक्की कुकरेजा को यह जिम्मेदारी देना पहले से ही तय माना जा रहा था. जिसकी पहली औपचारिकता पूरी करते हुए आज आमसभा में सभी पक्षों की संख्या के आधार पर अगले स्थाई समिति के 8 सदस्यों का चयन किया गया. जिसमें भाजपा से विक्की कुकरेजा, सुनील हिरणवार, संजय महाजन, शेषराव गोतमारे, सोनाली कडु, मंगला खेकरे, मनीषा अतकरे और कांग्रेस कोटे से हर्षला साबले का चयन किया गया है.

याद रहे कि स्थाई समिति में कुल 16 सदस्य होते हैं. शेष 8 सदस्यों का चयन शीघ्र किया जाएगा. वर्तमान में भाजपा के सदस्यों की संख्या के आधार पर स्थाई समिति में 13 और कांग्रेस के 3 सदस्य हैं. जिनमें से अगले आर्थिक वर्ष के लिए नए 8 सदस्यों का चयन किया जा चुका है. शेष 8 सदस्यों में से 6 भाजपा और 2 कांग्रेस के सदस्यों का चयन आगामी दिनों में किया जाएगा. भाजपा वर्तमान के शेष 6 सदस्यों के इस्तीफा ले चुकी है. वहीं कांग्रेस को उन्हें 2 सदस्यों के इस्तीफे लेने के लिए मशक्कत करनी पड़ रही है. इनमें से मनोज सांगोले ने इस्तीफा नहीं देने की ठानी है. अगर मनोज सांगोले ने इस्तीफा नहीं दिया तो वह कांग्रेस कोटे से अगले आर्थिक वर्ष के लिए पुनः स्थाई समिति सदस्य रहेंगे. नियमानुसार लगातार दूसरा वर्ष स्थाई समिति में रहने के बाद आपोआप उनका कार्यकाल ख़त्म हो जाएगा.

Advertisement

कुकरेजा को वैसे मुख्यमंत्री का करीबी बताया जाता है. वह बैंकिंग, भवन निर्माता के साथ शिक्षा संस्थाओं के संचालक हैं. पहली बार नगरसेवक बनते ही भाजपा नेता व मुख्यमंत्री के निर्देश पर मनपा में भाजपा उपनेता व अग्निशमन समिति का उपप्रमुख बनाया गया था. अग्निशमन विभाग से सम्बंधित समिति में रहते हुए कई भवन निर्माताओं को ‘फायर की एनओसी’ आसानी से दिलवाई, जो काफी चर्चा में रहा. संभावना यह है कि मनपा में एक विशेष समुदाय के दिग्गज ठेकेदार ठेकेदारी कर रहे हैं. इस कार्यकाल में उन्हें काफी मदद मिलेगी.

अन्य समितियों के सदस्यों का भी किया गया चयन
स्थापत्य, विद्युत व प्रकल्प समिति- संजय बंगाले, भगवान मेंढे, किशोर वानखेड़े, सरिता कावरे, राजकुमार शाहू, पल्लवी शामकुले, कमलेश चौधरी, पुरुषोत्तम हजारे, जीतेंद्र घोडेस्वार. इसमें से बंगाले पुनः सभापति बनाए जाएंगे.

वैद्यकिय सेवा व आरोग्य समिति- मनोज चाफले, विजय चुटेले, प्रमोद कौरती, विशाखा बांते, ऐरवार, ज्योति भिसिकर, गार्गी चोपड़ा, दिनेश यादव, वंदना चांदेकर. इसमें से मनोज चाफले पुनः सभापति नियुक्त किए जाएंगे.

विधि समिति- अधिवक्ता धर्मपाल मेश्राम, संगीता गिरे, जयश्री वाडीभस्मे, हरीश बागड़े, गोपीचंद कुमरे, संगीता चाकोले, संदीप सहारे, जुल्फेकार भुट्टो, मोहम्मद जमाल. इसमें से धर्मपाल मेश्राम सभापति होंगे.

शिक्षा समिति- दिलीप दिवे, भारती बूंदे, रीता मुले, स्वाति आखतकर, राजेंद्र सोनकुसरे, प्रमिला मथरानी, मनोज गावंडे, नितिन साठवणे, मोहम्मद इब्राहिम. इसमें से वर्तमान सभापति दिवे का कार्यकाल दोहराया जाएगा.

गलिच्छ बस्ती निर्मूलन व घर निर्माण समिति- अभय गोटेकर, उषा पैलेट, निरंजना पाटिल, लता कटगाए, रुतिका मसराम, दुर्गा हत्तीठेले, नेहा निकोसे, परसराम मानवटकर, नरेंद्र वाल्दे. इसमें से गोटेकर अलगे सभापति होंगे.

क्रीड़ा समिति- नागेश सहारे, प्रमोद तभाने, सरला नायक, कांता रारोकार, संजय चावरे, नेहा वाघमारे, दर्शनी धवड, साक्षी राऊत, विरंका भिवगड़े. नागेश सहारे पुनः सभापति होंगे.

महिला, बाल कल्याण समिति- प्रगति पाटिल, विशाखा मोहोड़, दिव्या धुरडे, संगीता कावरे, मनीषा अतकरे, नसीम बानो, जीशान इरफ़ान, रश्मि धुर्वे, वैशाली नारनवरे. प्रगति पाटिल होंगी अगली सभापति.

जलप्रदाय समिति- विजय झलके, प्रदीप पोहाने, दीपक चौधरी, गोपीचंद कुमरे, श्रद्धा पाठक, जयश्री रारोकर, हरीश ग्वालवंशी, प्रणिता शहाणे, संजय बुर्रेवार. इनमें से झलके व पोहाणे सभापति व उपसभापति होंगे.

कर वसूली व संकलन समिति- संदीप जाधव, सुनील अग्रवाल, यशश्री नंदनवार, मीनाक्षी तेलगोटे, माधुरी ठाकरे, संजय बालपांडे, नितीश ग्वालवंशी, भावना लोणारे, मंगला लांजेवार. संदीप जाधव होंगे सभापति.

अग्निशमन समिति- लहुकुमार बेहेते, वर्षा ठाकरे, निशांत गांधी, वंदना भूरे, वनिता दांडेकर, अनिल गेन्द्रे, बंटी शेलके, आशा उइके, ममता सहारे. लहुकुमार होंगे अगले सभापति.

Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement