Published On : Mon, Mar 18th, 2019

वेटेरनरी डॉक्टरों का आंदोलन जारी: प्रशासन बना मूकदर्शक, आप ने किया समर्थन

नागपुर: पिछले सात दिनों से वेटेरनरी के डॉक्टर सहायक पशुधन विकास अधिकारियों को अवैध तरीके से पदोन्नति देने के विरोध में हैं. इसके विरोध में डॉक्टर सेमिनरी हिल्स के वेटरनरी कॉलेज में लगातार प्रदर्शन कर रहे हैं, लेकिन अब तक प्रशासन की ओर से इनके आंदोलन की कोई सुध नहीं ली गई है. पहले जूते पॉलिश कर फिर चाय बेचकर, भीक मांगों आंदोलन कर डॉक्टरों की ओर से विरोध किया जा रहा है.

विद्यार्थियों की मांग के समर्थन को लेकर आम आदमी पार्टी की ओर से से भी समर्थन दिया गया है. आप की टीम की ओर से विदर्भ संयोजक डॉ. देवेंद्र वानखेड़े, आम आदमी पार्टी युवा आघाडी के विदर्भ अध्यक्ष पीयूष आकरे के साथ महाराष्ट्र कार्यकारिणी सदस्या कृतल आकरे समेत आप के पदाधिकारी कॉलेज पहुंचे और विद्यार्थियों को समर्थन करते हुए उनका मार्गदर्शन किया.

इस दौरान डॉ. देवेंद्र वानखेड़े ने कहा कि प्रशासन को पशुधन के स्वास्थ के साथ खेलने की यह साजिश है. दसवीं के बाद डिप्लोमा अर्थात पदविका पाठ्यक्रम पूरा कर (एलएसएस ) करनेवाले सहायक पशुधन विकास अधिकारियों को सीधे पशुधन विकास क्लास के एक पद पर वेटरनरी डॉक्टर बनाने का अवैध कार्य सरकार ने किया है. अवैध तरीके से दी गई यह पदोन्नति को रद्द किया जाए.

पशुधन विकास अधिकारियों के रिक्त जगह तुरंत भरी जाए, 1984 के वेटेरनरी कानून का पालन किया जाए. यह मांग आदमी पार्टी की ओर से की गई है. इस दौरान आप युवा आघाडी के पूर्व नागपुर अध्यक्ष नफीस शेख, दक्षिण अध्यक्ष शुभम पराडे, मध्य नागपूर अध्यक्ष गिरीश तितरमारे, पर्यावरण प्रेमी स्वप्नील बोधाने अभिषेक ठवरे, प्रतिक बावनकर समेत अन्य पदाधिकारी और कार्यकर्ता मौजूद थे.