Published On : Mon, Jul 9th, 2018

यूनिवर्सिटी में गुणवत्ता के आधार पर चयन करें

नागपुर: जातिवाद से शिक्षा का क्षेत्र पूर्णरूप से मुक्त हो इसके लिए राजनीतिक पार्टी यूनिवर्सिटी की राजनाति से अपने हस्तक्षेप को टालें. शिक्षा का क्षेत्र पवित्र होता है इसमें जाति नहीं बल्कि गुणवत्ता महत्वपूर्ण होती है. इसलिए यहां किसी भी व्यक्ति का चयन जातिपाति नहीं बल्कि गुणवत्ता के आधार पर करें ऐसी अपील केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने की.

यूनिवर्सिटी शिक्षण मंच, अखिल भारतीय राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ द्वारा आयोजित अभिनंदन समारोह में वे बोल रहे थे. इस अवसर पर सिनेट, विद्वत परिषद और अभ्यास मंडल में चुनकर आए शिक्षकों का गडकरी के हाथों सत्कार किया गया. विधायक अनिल सोले, मिलींद माने, कपिल पाटिल, नागो गाणार, पंकज भोयर, कल्पना पांडे, संजय दूधे उपस्थित थे.

आज सपना पूरा हुआ
गडकरी ने कहा कि वर्तमान में भाजपा की सरकार ग्राम पंचायतों से लेकर दिल्ली तक है केवल यूनिवर्सिटी में हमारा कोई व्यक्ति नहीं, यह खलता था. शिक्षण मंच की विजय से वह सपना पूरा हुआ. शिक्षण मंच द्वारा यूनिवर्सिटी में द्वेष की राजनीति न हो इसका ध्यान रखें.

मंच की कल्पाना पांडे ने अभ्यास मंडल पर 99 फीसदी वर्चस्व का श्रेय सभी के परिश्रम को दिया.