Published On : Tue, Mar 27th, 2018

संमित्र सैनिकी स्कूल के निर्देशक ने बेरहमी से की दो विद्यार्थियों की पिटाई, एक का हाथ टूटा


नागपुर: आज अभिभावक अपने लाडलो का जतन कर उन्हें स्कूल और बोर्डिंग स्कूल भेजते हैं, ताकि उनका भविष्य उज्ज्वल हो। पर उसी स्कूल का प्रबंधन यदी अपने छात्रों को अपाहिज बना दे, तो इसे क्या कहेंगे। जी हां ! चंद्रपुर के बल्लारपुर स्थित संमित्र सैनिकी विद्यालय में ऐसा ही मामला सामने आया है। जहां छोटे-छोटे अनुशासन की बात कर लगातार स्कूल निर्देशक कर्नल द्वारा दो छात्रों को न सिर्फ किसी मुजरिम की तरह बेदर्दी से पीटा गया, बल्कि एक छात्र का दाहिना हाथ इस मार से बेकार सा हो गया। दर्द से बिलबिलाते छात्र पर कठोर प्रबंधन को न तो तरस आया और न ही उसका इलाज ही कराया गया। आखिर इस असहनीय दर्द और प्रताड़ना के चलते किसी कैदी की तरह दो छात्र दीवार फांद कर फरार हुए और राहगीरों की मदद से अपने परिजनो तक पहुंचकर सारा किस्सा सुनाया। दुखी परिजनो ने प्रबंधन के खिलाफ मामला दर्ज कराया है।

परिजन छात्रों को अस्पताल में भर्ती कर उनका इलाज करा रहे हैं। इस स्कूल के प्रबंधन का यह तुगलकी रवैया अन्य छात्रों के अभिभावकों के लिए चिंता का विषय जरूर है। इस मामले में विद्यार्थी जगदीश भट्टी, मोहित उज्जवलकर समेत परिजन हरजीत सिंह और मनोज उज्जवलकर ने स्कूल प्रबंधक पर कार्रवाई की मांग की है।


—नरेंद्र पुरी