Published On : Sat, Nov 25th, 2017

शाम होते ही थम जाती है देश के परिवहन मंत्री के शहर की सड़के

Traffic Jam in Nagpur
नागपुर: इन दिनों शहर की जनता विकास की क़ीमत सड़को पर चुका रही है। लगभग हर दिन शाम के वक्त शहर की कुछ सड़को पर दिल्ली, मुंबई शहरों के जैसे जाम लग जाता है। नतीजा काम को निपटाकर घर जल्दी पहुँचने की जल्दी की आस का दम सड़कों पर निकल जाता है। सीताबर्डी, संविधान चौक, लोकमत चौक के वर्धा रोड और रेल्वे स्टेशन से लेकर भंडारा रोड तक दिन में कई बार जाम लग जाता है। फ़िलहाल तो सामान्य दिनों में ही ट्रैफिक जाम समस्या से परेशान लोगो का शीतकालीन अधिवेशन के दौरान क्या हाल होगा इसकी कल्पना करना ज्यादा मुश्किल नहीं है। खास है की शहर की सड़को पर अब ट्रैफिक जाम की दिक्कत आम हो जाने के बावजूद भी अब तक इससे निज़ात दिलाने का कोई प्लान बनाया नहीं बनाया गया है। अधिवेशन के पहले विधानभवन में किसी भी आपातकालीन स्थिति के निपटने के लिए केंद्र सरकार के मातहत आने वाली सुरक्षा एजेंसी और नागपुर पुलिस के साझा विधानभवन में मॉक ड्रिल को अंजाम दिया गया था। इन दिन तो शहर की जनता के कई घंटे सड़को पर जाम का सामना करने में ही निकल गए।

विधिमंडल अधिवेशन के दौरान राज्य भर से मोर्चे नागपुर पहुँचते है। यह दौर जनता के लिए और मुश्किल भरा होता है लेकिन इस बार अधिवेशन से पहले की स्थिति ही बताती है की अधिवेशन के दौरान हालत और मुश्किल भरे होंगे।

ट्रैफिक जाम से निज़ात दिलाने के लिए बनाया जाये मास्टर प्लान
शहर में जिस तरह की ट्रैफिक जाम की समस्या विक्राल रूप लेती जा रही है ऐसे में आवश्यकता है की एक मास्टर प्लान बनाया जाये। सिर्फ अधिवेशन को ध्यान में रखते हुए ही नहीं सामान्य दिनों में भी इसी मास्टर प्लान के हिसाब से ट्रैफिक का मैनेजमेंट किया जाये। अधिवेशन के दौरान वीआईपी मूवमेंट और अन्य सुरक्षा कारणों से विभानभवन की तरफ जाने वाली सड़को में वाहनों के परिचालन को बंद कर दिया जाता है ऐसे में आवश्यकता है की अभी से ही जनता में न केवल जनजागृति फैलाई जाये बल्कि वैकल्पिक विकल्प को उपलब्ध कराया जाये।

सुबह और शाम के दो घंटे होते है मुश्किल भरे
शहर में यह अनुभव आया है की सुबह 9 से 11 बजे और शाम को 5 से 7 बजे के दौरान सड़को में वाहनों की संख्या बढ़ जाती है इसका मुख्य कारण ऑफिस टाइमिंग है। इसी समय लोग अपने ऑफिस आना जाना करते है जिससे सड़को पर मुवमेंट बढ़ जाता है ऐसे में आवश्यकता है की इन दोनों समय के दौरान तत्परता से ट्रैफिक को कंट्रोल किया जाये।

विकास कार्यो की वजह से लगता है घंटो लंबा जाम
वैसे तो नागपुर में सड़क पर ट्रैफिक का संचालन सामान्य ही होता है लेकिन वर्त्तमान में कई विकास कार्य धड़ल्ले से शुरू है। सीमेंट रोड,मेट्रो का काम शहर के चारों भागों में शुरू है जिस वजह से ट्रैफिक जाम की स्थिति निर्माण हो रही है। वैसे मेट्रो द्वारा ट्रैफिक के संचालन को लेकर अपनी तरफ से व्यवस्था की गई है लेकिन वह नाकाफ़ी जैसी ही है ऐसे में आवश्यकता है की इन ओर गंभीरता से ध्यान दिया जाए।