Published On : Fri, Jan 27th, 2017

मेट्रो रेल के खिलाफ खोवा व्यापारी न्यायालय की शरण में


नागपुर: दुर्गा माता मंदिर ट्रस्ट की जगह पर खोवा व्यापारी अपना व्यवसाय किया करते थे। मेट्रो रेल और मनपा प्रशासन पर इस जगह को हड़पने का आरोप लगाते हुए उच्च न्यायलय की नागपुर खंडपीठ में एक जनहित याचिका दायर की गई है। उक्त जानकारी अधिवक्ता सुधीर महाजन और खोवा व्यापारियों ने दी है।

नागपुर चेरिटेबल कमिश्नर कार्यालय में दुर्गा माता ट्रस्ट 1934 में पंजीकृत है। यह ट्रस्ट मौजा बर्डी, सर्वे नंबर 2354,2355,आराजी 634.50 वर्ग मीटर व 9725.80 वर्ग मीटर जमीन पर है। इस जगह पर सीतला माता मंदिर है। 1972 में मनपा ने सर्वे क्रमांक 2354 व 2355 अलग-अलग किया। सर्वे क्रमांक 2355 की जमीन बिना ट्रस्ट को जानकारी दिए खुद के नाम किया। इसी ट्रस्ट की जमीन पर निर्माण किये गए दुकानों में 13 दुकान खोवा व्यवसायियों को किराए पर दिया गया। वे नियमित कर भी भरते थे। इस जमीन को हड़पने का षड्यंत्र मनपा ने किया और यह जगह मनपा प्रशासन मेट्रो रेल प्रशासन को देने वाली है। इसी के खिलाफ ट्रस्ट व खोवा व्यापारियों ने जनहित याचिका दायर की है।