Published On : Fri, Oct 7th, 2022

दीक्षाभूमि के अनुयायिओं ने मनपा के शेल्टर में लिया आश्रय,बेेहतरीन सुविधाओं से संतुष्ट

66वां धम्मचक्र प्रवर्तन दिन समारोह उत्साहपूर्वक संपन्न

नागपुर: उपराजधानी में 66वें धम्मचक्र प्रवर्तन दिवस के अवसर पर दर्शन के लिए श्रद्धालुओं के पहुंचने के पश्चात बुधवार दोपहर में अचानक तेज बारिश हुई। बारिश से बने हालात में मनपक आयुक्त एवं प्रशासक राधाकृष्णन बी के निर्देशानुसार नागरिकों के रहने की व्यवस्था पहले ही कर ली गई थी। इसलिए अनुयायी नागपुर महानगरपालिका द्वारा बनाए गए आश्रय केंद्रों में शरण लेते नजर आए। दीक्षाभूमि और उसके आसपास मनपा की ओर से दी जा रही सुविधाओं से श्रद्धालुओं को राहत मिली।

Advertisement

दीक्षाभूमि में बुधवार को धम्मचक्र प्रवर्तन दिन समारोह मनाया गया। इसके लिए देश भर से लाखों अनुयायी दीक्षाभूमि के दर्शन करने पहुंचे। मनपा आयुक्त एवं प्रशासक राधाकृष्णन बी के निर्देशानुसार नागपुर महानगरपालिका की ओर से देश के कोने-कोने से आए श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए सभी इंतजाम किए गए थे। बारिश के कारण उत्पन्न होने वाली किसी भी स्थिति के लिए मनपा नियंत्रण कक्ष के साथ शहर प्रशासन पूरी तरह से तैयार है। दोपहर में अचानक हुई तेज बारिश ने समर्थकों में हड़कंप मचा दिया था। बारिश से बने हालात को देखते हुए नगर निगम नियंत्रण कक्ष के अधिकारियों व कर्मचारियों ने तत्काल अन्नाभाऊ साठे चौक स्थित कंट्रोल रूम से लाउडस्पीकर के माध्यम से नागरिकों को आश्रय केंद्रों की जानकारी दी। दीक्षाभूमि परिसर में उप निदेशक स्वास्थ्य कार्यालय, औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान परिसर, डॉ बाबासाहेब अंबेडकर कॉलेज, समाज कल्याण कार्यालय, शासकीय चित्रकला महाविद्यालय, आरएस मुंडले हाई स्कूल, परांजपे स्कूल, धरमपेठ हाई स्कूल, सरस्वती हाई स्कूल शंकरनगर सहित सुभाष नगर एवं नगरपालिका के वाल्मीकि नगर नगर पालिका के दस विद्यालयों में नागरिकों को आवास उपलब्ध करा रहे हैं। मनपा की ओर से लाइट फैैन का इंतजाम किए जाने से श्रद्धालुओं को बड़ी राहत मिली है। बिजली की बत्तियां और मोबाइल चार्जिंग की व्यवस्था होने पर बाहर से आए श्रद्धालुओं ने संतोष जताया।

Advertisement

मनपा आयुक्त एवं प्रशासक राधाकृष्णन बी के मार्गदर्शन में उपायुक्त (राजस्व) एवं दीक्षाभूमि व्यवस्था के नोडल अधिकारी मिलिंद मेश्राम के नेतृत्व में समस्त कार्यपालन यंत्री, शिक्षा अधिकारी, उपायुक्त (ठोस अपशिष्ट प्रबंधन) डॉ. गजेन्द्र महल्ले, सहायक आयुक्त किरण बागड़े, सर्वश्री गणेश राठौड़, अशोक पाटिल, प्रकाश वरडे, घनश्याम पंधारे के निर्देशानुसार विभिन्न विभागों के कर्मचारियों ने समन्वय से कार्य किया ताकि नागरिकों को किसी प्रकार की असुविधा नहीं हुई।

24 घंटे काम कर रहे नगर पालिका के सफाई कर्मचारी

नगर पालिका के सफाई कर्मचारी दीक्षाभूमि क्षेत्र की सफाई के लिए 24 घंटे काम कर रहे हैं। दीक्षाभूमि क्षेत्र के चारों ओर सड़कों की सफाई के लिए नगर पालिका के ठोस कचरा प्रबंधन विभाग द्वारा प्रत्येक पाली में 20 कर्मचारियों को तैनात किया गया था। सड़कों पर पड़े कचरे को साफ करने, कचरा साफ करने के लिए चारों सड़कों पर 200 से अधिक ड्रम तैयार किए गए। इन ड्रमों के कचरे को 20 छोटे वाहनों की मदद से दो बड़े कम्पेक्टरों में ले जाकर भांडेवाड़ी डंपिंग यार्ड में पहुंचाया गया। साथ ही अनुयायियों के लिए नगर निगम की ओर से 900 शौचालयों की व्यवस्था की गई थी। जबकि नीरी रोड, काचीपुरा चौक, रहाटे कॉलोनी चौक, लक्ष्मीनगर चौक मोबाइल शौचालय तैयार किए गए। इसके अलावा इलाके में सीसीटीवी कैमरे भी लगाए गए थे। रात में श्रद्धालुओं को असुविधा न हो इसके लिए स्ट्रीट लाइट जलाई गई। आवश्यक स्थानों पर रोशनी की भी व्यवस्था की गई थी। दीक्षाभूमि के आसपास के स्थानों और नागपुर शहर में भी, दीक्षाभूमि से अन्य स्थानों की ओर जाने वाले मार्ग, दिशा और साइट व्यूअर मैप दिखाए गए हैं कि कौन सी बुनियादी सुविधाएं किस स्थान पर हैं, अनुयायियों को आसानी से स्थानों तक पहुंचने के लिए ट्रांसपोर्ट व्यवस्था प्रदान की गई थी।

Advertisement

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

 

Advertisement
Advertisement
Advertisement