Published On : Fri, Mar 20th, 2015

कोंढाली में सुवरों का आतंक

Dirty
कोंढाली (नागपुर)। यहां के ग्रामपंचायत कोंढाली-शिरमी तथा सोनेगांव क्षेत्र के सभी वार्डों में सुवरों का भारी आतंक बना हुआ है. यहां अन्य गांव अथवा शहरी क्षेत्र से सैकड़ो सुवर ला कर छोड़े जाते है. जिससे सर्व सामन्य नागरिक परेशान हुए है.

यहां के सभी वार्डों में गावठी सुवरों के आतंक के चलते गांव की आम जनता परेशान है. रात-बेरात सुवर घरों में घुसते है. बाथरूम में रखे रांजन में मुह डाल कर पानी गंदा करते है. छोटे-छोटे बच्चे सुअर के डर से इधर-उधर भागते नजर आते है, और इसी बिच दुर्घटना का अंदेशा बना रहता है. इस संदर्भ में गांव की ग्राम पंचायत में अनेक बार शिकायत भी की गई है. ग्रामसभा में भी सुअरों के आतंक का विषय प्रमुखता से लिया गया था. किंतु उन सुवरों तथा उनके मालिकों पर कोई कार्रवाई नही की गई. यहां के गांव के गली कुचों में घुमने वाले सुवर किसके है इसकी जानकारी भी ग्रापं के पास नही है.

कांजी हाउस बनाने की मांग
काटोल-कोंढाली सबसे बड़ी ग्रापं है. यहां के ग्रापं को 20 वर्ष पहले कांजी हाउस भी था. किंतु अब वहां स्कुल का भवन बनाया गया है. कोंढाली गांव के आस-पास किसानों के खेती का नुकसान करने वाले पशु तथा सुवरों के आतंग चलते किसान तथा नागरिक परेशान है. यहां के मुख्य सड़क पर पशुओं को जमावडा लगा रहता है. जिससे अनेक बार दुर्घटनाएं भी हुई है. यहां के ग्रापं को अनेक बार कांजी हाउस बनाने की मांग की गई है.

स्वाईन फ्लू का खतरा
यहां सुवरों के आतंक के चलते स्वाईन फ्लू का खतरा मंडरा रहा है. ग्रापं द्वारा अनेक बार ध्वनि क्षेपण द्वारा सुवरों के मालिकों को सुवरों की सुरक्षित जगह बनाने की सूचनाएं दी गई. किंतु अब तक संबधित सुवरों का बंदोबस्त नही हुआ है. संपुर्ण देश में स्वाईन फ्लु का खतरा मंडरा रहा है. फिर भी कोंढाली में आवारा सुवरों पर अंकुश लगाई नहीं जा रही है.

यहां के ग्रापं द्वारा लावारिस सुवरों की निलामी के लिए विज्ञापन भी दिया गया था. 19 मार्च को निलामी भी रखी गई थी. सुवरों के निलामी के लिए कोई भी नही आए ऐसी जानकारी ग्रापं ने दी है.