Published On : Mon, Jan 19th, 2015

देवली : स्वच्छता ग्राम योजना की उड़ रही धज्जियां


सड़क बने शौचालय

देवली (वर्धा)। भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्वच्छता का नारा लगाया था. लेकिन देवली तालुका में इस योजना की धज्जियां उड़ रही है. यहां का प्रशासन बेपरवाह हो गया है. डेंग्यु जैसी बिमारियों ने यहां आतंक मचाया हुआ है. महाराष्ट्र शासन ने निर्मल ग्राम योजना चलाई है. लेकिन इस योजना की धज्जियां उड़ती दिख रही है. तालुका बिमारियों की चपेट में आ रहा है.

केंद्र सरकार और राज्य सरकार स्वच्छता के विषय पर अनेक योजनाये चलाते है. योजनाओं पर करोड़ों निधी खर्च करते है. खुले में शौचमुक्त गांव योजना शासन ने चलाई. उसमे तालुका के अनेक ग्राम पंचायतों ने हिस्सा लिया. उनमें से कुछ गांवों को पुरस्कार भी मिले है. लेकिन पुरस्कार प्राप्त ग्रामपंचायत परिसर में वही स्थिती निर्माण हुई है. इस जगह 100 शौचालयों का निर्माण किया गया है. जिसके माध्यम से जनजागृती करके स्वच्छता की जानकारी नागरिकों को दी गयी. गांवों की देखरेख की जिम्मेदारी पंचायत समिती की है. लेकिन इसकी ओर भी अनदेखी हो रही है. आज कोई भी गांव में जाकर देखे तो 1 से 2 किमी दुरी पर सडको को शौचालय बनाया गया है. जिससें तालुका के अनेक गांवों में बिमारियों को बढ़ावा मिल रहा है.

गटविकास अधिकारियों और कर्मचारियों की ओर से दी गयी शासकीय जिम्मेदारी सही ढंग से नही निभाई जा रही है. जिसका परिणाम यह है कि संपुर्ण तालुका के सड़कों पर गंदगी फैली है. देश की जनता सुरक्षित रहे, उनका स्वास्थ्य अच्छा रहे इसके लिए स्वच्छता अभियान चलाया जाता है. लेकिन पंचायत समिती प्रशासन अपनी बड़ी जिम्मेदारी को अनदेखी कर रही है. विगत कुछ महीनों से तालुका में संसर्गजन्य बिमारियां बढ़ रही है. जिसका सामना नागरिकों को करना पड़ रहा है. इसको रोका नहीं गया तो बड़ी गंभीर समस्या निर्माण हो सकती है.

इसलिए जिला स्तर पर वरिष्ठ अधिकारियों ने इस ओर तुरंत ध्यान देकर गटविकास अधिकारी देवली को सुचना देकर हर ग्रामपंचायत स्तर पर स्वच्छता अभियान चलाया जाए ऐसी मांग तालुका की जनता कर रही है.

Toilet on Road

File pic