Published On : Wed, Apr 3rd, 2019

विद्यार्थी उन्नतिगृह का स्नेह मिलन

नागपुर : मैत्री परिवार संस्था के अंतर्गत चल रहे विद्यार्थी उन्नति गृह अभ्यंकर नगर में विदर्भ के गरीब, आत्महत्याग्रस्त किसानों के बच्चों की शिक्षा, स्वास्थ, भोजन और उनके प्रगति का मैत्री परिवार संस्था प्रयास करती है. प्रतिवर्ष छात्रों की परीक्षा का खत्म होने के बाद छात्र अपने माता-पिता या अपने रिश्तेदारों के यहा जाते हैं.

इन सभी बच्चों का स्नेह मिलन प्रतिवर्ष होता आहे. इस कार्यक्रम की तैयारी सभी बच्चे अपने अपने पद्धति से करते हैं. कार्यक्रम के शुरुआत मे शुभम भेलोंडे ने पुणेकर काका, प्रा. माधुरी यावलकर, मनीषा गर्गे, मृणाल पाठक, दिलीप ठाकरे, मैत्रेयी ठाकरे व आश्लेषा का स्वागत शब्दों से किया.

समूह गीत तन्मय नारनवरे, लक्की राठोड, मंथन ढोबले, सूजल घोगरे ने प्रस्तुत किया. लक्की राठोड, सूजल घोगरे ने मधुर आवाज मे आवाज व शब्द क्या बात है और यश कुबेटकर, स्वप्निल जाधव, शुभम जाधव ने अपने विचार व्यक्त किए.


शिवा अरोडकर ने गीत प्रस्तुत किया. प्रा. माधुरी यावलकर ने बच्चों से कहा अपने जीवन कुछ लक्ष्य रहा हम बडा बन सकते है, उन्होने द्रोणाचार्य व अर्जुन की कहानी बतायी. कार्यक्रम का समापन पुणेकर काका के देवा तुझा मी सोनार इस भक्ति गीत से हुआ.