Published On : Thu, Nov 20th, 2014

चंद्रपुर : भगवान बुद्ध के चित्र का गलत इस्तेमाल रोके


सयाजी उबा खीन समिति की मांग

Manglur Special gautam Bidi
चंद्रपुर।
आंध्रप्रदेश के करीमनगर जिले के कोर्ट में गत कई वर्षों से बीड़ी का उत्पादन किया जा रहा है. यह कंपनी बीड़ी के बंडल पर भगवान बुद्ध का चित्र अंकित कर व्यापार कर रही है. यह मामला नागरिकों की भावनाओं को भड़काने वाला होने से भगवान बुद्ध के चित्र का गलत इस्तेमाल जल्द रोकने की मांग बल्लारपूर के सयाजी उबा खीन बहुउद्देशीय सेवा समिती की तरफ से भारतीय मानद परिषद मुंबई को भेजे पत्र से की है.

कोई भी विज्ञापन में किसी की भी फोटो या चित्र का इस्तेमाल करना हो तो ऐसी स्थिती में भारतीय मानद परिषद की अनुमति लेना क्रमप्राप्त होती है. उस विज्ञापन के माध्यम से किसी का मन ना दुखे ऐसी देखभाल करने का भी कार्य परिषद के तरफ है. लेकिन आंध्रप्रदेश के 480 नंबर मंगलोर स्पेशल गौतम बिडी के नाम से बिडी उत्पादन करने वाली कंपनी ने भगवान बुद्ध के चित्र का इस्तेमाल कर उसकी मार्केटींग करना शुरू किया है. भगवान बुद्ध किसी भी प्रकार के नशापाणी को प्रोत्साहन देने वाले नहीं थे. उनकी शिक्षा जग को दिशा देनेवाली थी. एक समृद्ध समाज उनके माध्यम से निर्माण हुआ. विश्वशांती के मसीहा के रूप में भगवान बुद्ध को जाना जाता है. ऐसी स्थिति में आंध्रप्रदेश की उक्त कंपनीने बिडी के बंडलपर भगवान बुद्ध का चित्र इस्तेमाल करना कितना योग्य है, ऐसा प्रश्न सयाजी उबा खीन बहु. सेवा समिती के अध्यक्ष राजेश गेडाम ने उपस्थित किया है. इस संदर्भ की शिकायत गेडाम ने आयुक्त मानव अधिकार, नई दिल्ली, संचालक भारतीय मानद परिषद, मुंबई व केंद्रीय मंत्री हंसराज अहीर को की है. वही इस संदर्भ की एक शिकायत करिमनगर पोलिस अधीक्षक से भी की गई है. महाराष्ट्र में बौद्ध धर्म का प्रचार व प्रसार बड़े पैमाने में हुआ है, भगवान बुद्ध पर यहाँ के अनेक नागरिकों की अथांग श्रद्धा है. ऐसी स्थिति में गौतम बिडी का  धुम्रपान सेवन के लिए भगवान बुद्ध के चित्र का गलत इस्तेमाल होने की शिकायत तक्रार गेडाम ने दर्ज की है. गत 18 वर्ष से ऐसे कृत्य बिडी कारखानो द्वारा किये जाते दौरान भारतीय विज्ञापन मानद परिषद का इस ओर ध्यान क्यों नहीं गया? उक्त बिडी उत्पादक पर कड़ी कार्रवाई की जाए ऐसी मांग समिती ने की है.