Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!

    Nagpur City No 1 eNewspaper : Nagpur Today

    | | Contact: 8407908145 |
    Published On : Mon, Aug 3rd, 2020

    Spandan Heart Institute: हॉस्पिटल में शनिवार तक 5 कर्मी पाए गए कोरोना पॉजिटिव

    कर्मियों की हॉस्पिटल को लेकर कई शिकायतें

    नागपुर– Covid-19 की इस महामारी ने देश में हाहाकार मचा रखा है. इस महामारी से आम लोगों के साथ साथ डॉक्टर भी संक्रमित हो रहे है. इसके साथ ही हॉस्पिटल में काम करनेवाले कर्मी और नर्सेस भी संक्रमित हो रहे है. ऐसी ही एक जानकारी सामने आयी है, जिसमें शहर के एक बड़े हॉस्पिटल में काम करनेवाली नर्सेस और सफाई कर्मी कोरोना ( Corona ) पॉजिटिव मिलने के कारण हड़कंप मच गया है. यह हॉस्पिटल धंतोली में स्थित है और इसका नाम स्पंदन हार्ट इंस्टिट्यूट एंड रिसर्च सेंटर ( Spandan Heart Institute And Research Centre ) है.

    यह शहर का एक जाना-माना हॉस्पिटल है. यहां पर कुल मिलाकर शनिवार तक 5 कर्मी कोरोना (Corona) पॉजिटिव पाए गए है. जिसके कारण यहां आनेवाले मरीजों के साथ साथ प्रशासन की भी नींद उड़ चुकी है. सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार हॉस्पिटल में काम करनेवाली 3 से 4 महिला नर्सेस और एक महिला सफाई कर्मी पॉजिटिव पायी गई है. दरअसल हॉस्पिटल में एक मरीज भर्ती हुआ था, जो कोरोना (Corona) से संक्रमित था और उसी के कारण हॉस्पिटल की नर्सेस और कर्मी संक्रमित हुए. इसके बाद हॉस्पिटल की ओर से इनमे से कुछ कर्मियों से कहा गया की वे बाहर ये न बतायें की वे स्पंदन हार्ट इंस्टिट्यूट एंड रिसर्च सेंटर (Spandan Heart Institute And Research Centre) में काम करते है.

    हॉस्पिटल के ही पीड़ित कर्मियों से मिली जानकारी के अनुसार इसके साथ जब कर्मियों की रिपोर्ट पॉजिटिव आयी तो बाकी कर्मियों ने हॉस्पिटल में इस समय आने से मना कर दिया तो तो जबरन उन्हें काम पर बुलाया जा रहा है. पीड़ितों ने जानकारी दी है की हॉस्पिटल में भी कर्मी कोरोना (Corona) पाए जाने के बाद भी हॉस्पिटल प्रशासन की ओर से इन कर्मियों पर दबाव बनाया जा रहा है और इन्हे परेशान किया जा रहा है.

    मिली जानकारी के अनुसार एक नर्स जिसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद भी हॉस्पिटल के सामने वो एक अपार्टमेंट के फ्लैट में ही रहती थी और एक नर्स जो आईजीएमसी में भर्ती हुई थी, उससे यह कहा गया था की वो मेडीकल के डॉक्टर को यह जानकारी दे की वो एक हाउसवाइफ है और वो यहां काम नहीं करती है, ऐसी भी जानकारी सामने आयी है की हॉस्पिटल के ज्यादतर कर्मी और नर्सेस हॉस्पिटल नहीं आ रही है. इनका कहना है की जब हॉस्पिटल, जो कोरोना (Corona) पॉजिटिव पाए गए है, उनकी ही जिम्मेदारी नहीं ले रहा है तो इनकी जिम्मेदारी कौन लेगा. अब सवाल यह उठता है की जो जानकारी हॉस्पिटल के कर्मियों की ओर से दी जा रही है, उसके अनुसार अगर जो पॉजिटिव पाए गए थे, उनके भर्ती होने से पहले वे कितने लोगों के संपर्क में आए होंगे और इसके बाद अगर इन कर्मियों द्वारा संक्रमण बढ़ता है, तो इसकी जिम्मेदारी स्पंदन हार्ट इंस्टिट्यूट एंड रिसर्च सेंटर (Spandan Heart Institute And Research Centre) प्रबंधन लेगा क्या .

    इस बारे में स्पंदन हार्ट इंस्टिट्यूट एंड रिसर्च सेंटर (Spandan Heart Institute And Research Centre) के संचालक डॉ.हर्षवर्धन मार्डीकर ने जानकारी देते हुए बताया की 5 कर्मियों की रिपोर्ट पॉजिटिव आयी है. सभी को बताया गया है की आपको मेडीकल में दिखाना है, इसमें से दो ने दिखाया भी है. उन्होंने बताया की हमारे हॉस्पिटल के सामने किसी भी फ्लैट में हमारे यहां की महिला नर्स जो पॉजिटिव है, वो नहीं रहती है.

    हॉस्पिटल के करीब 15 से 16 कर्मियों को छुट्टी दी गई है.शुक्रवार से उन्हें छुट्टी दी गई है. लैब में हमारी ओर से ही सभी कर्मियों का टेस्ट किया गया है. किसी भी कर्मी का इलाज हम नहीं कर रहे है. 16 कर्मियों की रिपोर्ट नेगेटिव आयी है. जो मरीज हमारे हॉस्पिटल में था, वो पहले नेगेटिव था, ऑपरेशन के बाद वो पॉजिटिव पाया गया, उसको भी मिलने के लिए लोग आते थे. इसी वजह से शायद उस मरीज को हुआ हो. उन्होंने बताया की किसी भी कर्मचारी से यह नहीं कहा गया है की आप किसी से यह नहीं कहना की आप स्पंदन हॉस्पिटल में काम करते है.

    Stay Updated : Download Our App
    Mo. 8407908145