Published On : Tue, Nov 28th, 2017

पुराने (इलेक्ट्रोमेकेनिकल) मीटर बदलने गए एसएनडीएल कर्मचारी पर हमला


नागपुर: 28 नवंबर 2017, एसएनडीएल के वाणिज्य विभाग के एक विशेष दस्ते ने ऐसे कई परिसरों में मीटर बदलने की कार्रवाई को अंजाम दिया जहाँ पुराने प्रकार के (इलेक्ट्रोमेकेनिकल) मीटर लगे हुए थे। इस टीम में 1 वाणिज्यिक प्रबंधक, 2 सहायक प्रबंधक, एक टेक्नीशियनऔर एक महिला कर्मचारी शामिल थे। ज्ञातव्य है कि केंद्रीय विद्युत अधिनियम 2006 में अंकित अद्यतन संशोधन के अनुसार विद्युत वितरण करने वाली प्रत्येक कंपनी के लिए सभी इलेक्ट्रोमेकेनिकल मीटर बदल कर नवीनतम तकनीक वाले स्टैटिक (डिजिटल) मीटर स्थापित करना आवश्यक है।

पिछले माह एसएनडीएल ने ऐसे लगभग 5 हज़ार उपभोक्ताओं को नोटिस जारी किया तथा उन्हें जानकारी दी कि जल्द ही उनके मीटर बदले जाएंगे। इसी संदर्भ में उपरोक्त टीम प्रातः 10 बजे जाफर नगर क्षेत्र के विट्ठल रुक्मिणी नगर में मीटर बदलने की कार्रवाई कर रही थी। इस दौरान उपभोक्ता फ़ख्रुद्दीन मुश्ताक (उपभोक्ता क्रमांक 410014353171) के घर मीटर बदलने की कार्रवाई पूरी की गई। ज्ञात हो कि पुराना मीटर चलाने के अलावा उक्त उपभोक्ता द्वारा नियमित रूप से बिल न भरने के कारण उसपर लगभग 35 हज़ार बकाया भी है। इस दौरान उक्त उपभोक्ता के घर पर मौजूद लोगों से बिल भरने की अपील भी की गई। टीम अपनी कार्रवाई कर उपभोक्ता के परिसर से दूर निकल चुकी थी जब अचानक ही उपभोक्ता ने गाड़ी से पीछा कर टीम को रोका तथा हाथापाई शुरु कर दी। टीम के अधिकतर सदस्य आगे की कार्रवाई हेतु आगे निकल जाने से एक अकेले व्यक्ति पर हमला किया गया। स्वयं के बचाव का प्रयास करते हुए कर्मचारी द्वारा दूर करने पर उपभोक्ता स्वयं संतुलन खो बैठे तथा इस कारण उसे मामूली चोट लगी। इसे एसएनडीएल द्वारा हमला बताकर उपभोक्ता पुलिस एवं आसपास के लोगों को बरगलाने का प्रयास करता रहा।एसएनडीएल का मानना है कि कार्रवाई पूर्ण हो जाने के बाद हमला होने से प्रतीत होता है कि उपभोक्ता ने सहानुभूति प्राप्त करने के उद्देश्य से ऐसा किया होगा।

इस हमले की प्रतिक्रिया के रूप में एसएनडीएल ने उक्त उपभोक्ता के विरुद्ध मानकापुर पुलिस थाने मंठ शिकायत दर्ज करवाई। एसएनडीएल ने इस प्रकार आधिकारिक कार्रवाई में बाधा उत्पन्न करने के लोगों के प्रयास पर गहरा रोष जताया है। शहर के कुछ ही ऐसे परिसर शेष हैं जिसमें आज भी सदोष इलेक्ट्रो-मेकेनिकल मीटर लगे हुए हैं। ऐसे अधिकतर परिसरों में इसी प्रकार के हमले होने के कारण कई बार कार्रवाई रोकनी पड़ी है, परंतु एसएनडीएल नियमों का पालन करने हेतु कटिबद्ध है तथा सभी इलेक्ट्रोमेकेनिकल मीटर बदलने की कार्रवाई जारी रखेगी।