Published On : Tue, Jul 27th, 2021

उपचार के दौरान शक्तिमान की मौत

Advertisement

6 आरोपियों को कल तक पुलिस हिरासत

नागपुर. कौशल्यानगर परिसर में शुक्रवार की रात हुई स्वयम सत्यप्रकाश नगराले (21) की हत्या का बदला लेने के लिए उसके साथियों ने शिवम उर्फ शक्तिमान शुद्धोधन गुरुदेव (19) पर जानलेवा हमला किया था. उसकी हालत लगातार चिंताजनक बनी हुई थी. सोमवार की सुबह डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया. दोपहर बाद तनावपूर्ण शांति के बीच उसका अंतिम संस्कार किया गया. पुलिस ने हत्या की धारा बढ़ा दी है.

Advertisement

इस मामले में पकड़े गए आरोपी कौशल्यानगर निवासी बिरजू वसंता शिंदे (28), अभिजीत दिलीप घोड़ेस्वार (24), आकाश कृष्णा मनवर (30), प्रीतम अंबादास कावले (24), सुनील वामन वानखेड़े (39) और सुरेश गोपीचंद कांबले (44) को पुलिस ने सोमवार को न्यायालय में पेश किया. अदालत ने उन्हें 28 जुलाई तक पुलिस हिरासत में रखने के आदेश दिए हैं.

ज्ञात हो कि संजय उमाड़े के यहां चल रहे जुआ अड्डे पर स्वयम और निशांत घोड़ेस्वार का विवाद हुआ था. तब से दोनों में ठनी हुई थी. स्वयम शराब पीकर जुआ अड्डे पर जाता था और हथियार की नोक पर सभी को मारने की धमकी देता था. ऐसे में बीते शुक्रवार को निशांत, शक्तिमान और नाबालिग साथियों ने स्वयम पर हमला कर दिया. छाती पर चाकू से वार कर मौत के घाट उतार दिया. अन्य आरोपी पकड़े गए लेकिन शक्तिमान भाग निकला.

पुलिस सरगर्मी से उसकी तलाश में जुटी थी लेकिन शनिवार की सुबह उसके ही किसी दोस्त ने मुखबिरी करके स्वयम के साथियों को उसके भांडे प्लॉट परिसर में होने की जानकारी दी. उपरोक्त 6 आरोपियों ने भांडे प्लॉट से शक्तिमान का अपहरण किया और परिसर में लाकर उस पर हमला कर दिया. वैसे शक्तिमान को पहले ही मृत मान लिया गया था लेकिन पुलिस गैंगवार में एक के बाद एक 2 हत्या की वारदातों का जोखिम नहीं उठाना चाहती थी. इसीलिए वेंटिलेटर पर उसे जिंदा रखा गया था. सोमवार की सुबह उसे मृत घोषित कर दिया गया. पोस्टमार्टम के बाद तगड़े पुलिस बंदोबस्त के बीच उसका अंतिम संस्कार किया गया.

Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement