Published On : Thu, Feb 15th, 2018

महाराष्ट्र: स्कूली किताबों में सेक्स के क़िस्से, BJP पर बरसी शिवसेना

Advertisement

भारत में स्कूली शिक्षा में सेक्स एजुकेशन शामिल करने को लेकर लंबे समय से बहस चल रही है. इस दिशा में एक कदम आगे बढ़कर महाराष्ट्र के सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले पहली से पांचवीं के बच्चों के लिए वर्जिनिटी (कौमार्य) और सेक्स की जानकारी देने वाली एक किताब तैयार की गई है.

इस किताब के एक हिस्से में लिखा है- वह उत्तेजित हो गया, उसने उसका हाथ पकड़ा. वह सेक्स के लिए आगे बढ़ा तो लड़की ने पूछा, “अगर मेरा कौमार्य भंग हो गया तो मुझे कौन स्वीकार करेगा?”… उसने उससे कहा कि खाना परोसते वक्त उसे कपड़े नहीं पहनने चाहिए.

Advertisement
Advertisement

‘बाल नचिकेत’ नाम की इस किताब का प्रकाशन भारतीय विचार साधना, पुणे ने किया है. कांग्रेस नेता राधाकृष्ण विखे पाटिल का दावा है कि इस किताब को स्कूलों की लाइब्रेरी में कक्षा पहली से पांचवी तक के बच्चों के लिए रखा जाएगा.

शिवसेना के मुखपत्र ‘सामना’ ने इस पर प्रतिक्रिया में लिखा, “यह विनोद तावड़े की नई उपलब्धि है. छात्र परेशान हैं, शिक्षक हैरान हैं और अभिभावक नाराज़ हैं.”

विखे पाटिल ने सवाल उठाया कि इसका छोटे बच्चों के दिमाग पर क्या असर पड़ेगा? वहीं शिक्षा मंत्री विनोद तावड़े ने कहा कि इस मुद्दे पर वह बाद में टिप्पणी देंगे. इस बीच विखे पाटिल ने राज्य सरकार पर किताबों की खरीदी में गड़बड़ी का भी आरोप लगाया.

Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement