Published On : Mon, Aug 23rd, 2021

सलून में देह व्यापार अड्डे पर छापा

Advertisement

-नाबालिग लड़की समेत दो पुलिस हिरासत में
-दलाल भी गिरफ्तार

नागपुर: क्राइम ब्रांच के सामाजिक सुरक्षा विभाग ने मेडिकल चौक स्थित एक पॉश बिल्डिंग में सैलून के नाम से चलाए जा रहे देह व्यापार के अड्डे में छापेमारी कर दलाल को गिरफ्तार कर लिया है। क्राइम ब्रांच दस्ते ने पुलिस दस्ते ने 16 साल की एक नाबालिग लड़की समेत दो अन्य लोगों को भी गिरफ्तार किया। दलाल और मुख्य आरोपी का नाम सागर देवराव काजनीकर (22) है। वह किनखेड़े लेआउट, यशोधरानगर का निवासी है। एक और आरोपी नीतू कोहाड़ फरार है और पुलिस उसकी तलाश कर रही है। सागर और नीतू दरअसल रिश्तेदार हैं। यह दोनों अर्जुन अपार्टमेंट फ्लैट नं. 510 में सलून के नाम पर देह व्यवसाय चला रहे थे। क्राइम ब्रांच के एसएसबी दस्ते को इस बात का पता चला। इस सूचना के आधार पर एसएसबी दस्ते ने आरोपियों को गिरफ्तार करने और स्थान पर छापा मारने की योजना तैयार की। शनिवार तड़के करीब तीन बजे बोगस ग्राहक को वहां भेजा गया।

Advertisement
Advertisement

ग्राहक ने सागर से संपर्क किया और एक 15 से 16 साल की लड़की की मांग की। 1500 रुपए पर सौदा पक्का होने के बाद ग्राहक को फ्लैट के एक कमरे में भेज दिया गया। 16 साल की पीड़िता भी वहां पर मौजूद थी। ‘ग्राहक’ ने तत्काल पुलिस दस्ते को सूचना दी। मौका मिलते ही पुलिस दस्ते ने छापेमारी कर सागर को गिरफ्तार कर लिया। दूसरे कमरे में पुलिस को 27 वर्षीय एक महिला वेश्यावृत्ति में लिप्त मिली।

पुलिस ने उसे नाबालिग लड़की के साथ दूसरी महिला को भी गिरफ्तार कर लिया। लेकिन सागर की रिश्तेदार नीतू एसएसबी दस्ते को चकमा देने में कामयाब हो गई। पुलिस ने उसके खिलाफ मामला दर्ज किया है उसकी तलाश शुरू कर दी है। पुलिस उपायुक्त गजानन राजमाने और सहायक पुलिस आयुक्त भीमानंद नलावडे के मार्गदर्शन में पुलिस निरीक्षक भोसले, पुलिस उप निरीक्षक मंगला हरदे, हवलदार सुनील इंगले, भूषण झाडे, मनीष रामटेके और रीना जाउरकर ने यह कार्रवाई की।
बॉक्स में लीजिए:

जबलपुर से है नाबालिग पीड़िता:
सागर ने एक सलून किराए पर लिया था। वहां उसने अलग-अलग जगहों से लड़कियों को एकत्रित कर वेश्यावृत्ति के लिए रखा। पुलिस हिरासत में ली गई 16 साल की नाबालिग पीड़िता मध्य प्रदेश के जबलपुर शहर की निवासी है। वह 14 साल की उम्र से ही देह व्यापार कर रही है। उपलब्ध जानकारी के अनुसार उसकी मां फरार है और उसके पिता का एक दूसरी महिला से अवैध संबंध हैं। लड़की वेश्यावृत्ति के ज़रिए उपलब्ध होने वाली आय के ज़रिए अपनी शिक्षा और बाकि ज़रुरत के खर्च उठा रही थी। सागर ने उसे एक महीने के लिए बुक किया था। पुलिस हिरासत में ली गई 27 वर्षीय महिला शादीशुदा है लेकिन पारिवारिक समस्याओं के चलते वह अपने पति को छोड़कर चली गई है।

Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement