Published On : Fri, Jan 6th, 2017

इ-सर्वे के बहाने भाजपा जनाधार टटोलने में जुटी

whatsapp
नागपुर:
महानगर पालिका चुनाव में जीत के प्रति भारतीय जनता पार्टी बिलकुल भी आश्वस्त नहीं है, इसलिए पार्टी, मतदाताओं का मन टटोलने के बहाने उम्मीदवार तलाश रही है। भाजपा की ओर से वॉट्स एप के जरिए मतदाताओं को एक लिंक भेजी जा रही है। इसे इ-सर्वे का नाम दिया जा रहा है। सूत्र बताते हैं कि प्रभाग पद्धति के तहत होने वाले मनपा चुनाव में मतदाताओं का रुख जानने के बाद ही भाजपा उम्मीदवारों का नाम तय करेगी। इस इ-सर्वे से भाजपा की टिकट से उम्मीदवारी पाने के इच्छुकों की नींद हराम हो गई है।

क्या है सर्वे?
वॉट्स एप पर ‘spypoll.in’ नामक लिंक भेज कर संबंधित व्यक्ति से उस पर क्लिक करने और निर्देशों का पालन करने लिए कहा जा रहा है। उक्त लिंक पर क्लिक करते ही मोबाइल नंबर रजिस्टर करने की सूचना मिलती है। मोबाइल नंबर रजिस्टर करने के बाद व्यक्ति की जाति पूछी जाती है और फिर उससे पसंदीदा उम्मीदवार के बारे राय देने के लिए कहा जाता है। मजेदार बात यह है कि इस लिंक पर अंत में संबंधित प्रभाग से भाजपा की टिकट पाने के इच्छुक उम्मीदवारों की सूची भी दिखाई देते है, सर्वे के प्रतिभागी को इस सूची में से ही उम्मीदवार तय करने के लिए कहा जाता है।

उम्मीदवारों के होश फ़ाख्ता

भाजपा की टिकट से मनपा चुनाव लड़ने के इच्छुकों के होश सर्वे की वजह से इस समय फ़ाख्ता हैं। यह सर्वे यूँ तो मनपा के सभी 38 प्रभागों में कराया जा रहा है, लेकिन कुछ प्रभागों में उम्मीदवारों की सूची इस लिंक में नहीं है, इसका यही मतलब लगाया जा रहा है, उन प्रभागों में उम्मीदवारों के नाम तय कर लिए गए हैं। पार्टी के इस इ-सर्वे से उम्मीदवारी की दौड़ में शामिल ज्यादातर भाजपा नेता नाराज हैं। उनका मानना है इस तरह के सर्वे में बहुत कम लोग शामिल हो पाते हैं, जिससे सही तस्वीर नहीं बनाई जा सकती है। लेकिन कुछ उम्मीदवार ऐसे भी हैं जो अपने चहेते लोगों और मतदाताओं तक वॉट्स एप के जरिए उक्त लिंक भेजकर अपने पक्ष में राय देने का आग्रह कर रहे हैं।

देखने की बात यही है कि भाजपा के पदाधिकारी इस खेल से प्रभावित होकर मनपा चुनाव के लिए उम्मीदवारों की घोषणा करते हैं या फिर उम्मीदवार की योग्यता, अनुभव अथवा पहुँच के आधार पर।