Published On : Wed, May 3rd, 2017

तीन महीने से नहीं मिली शालेय पोषण आहार की निधि

Mid day meal

Representational Pic


नागपुर:
जिला परिषद की ओर से पहली से लेकर आठवीं तक के विद्यार्थियों को मध्यन्न भोजन दिया जाता है। जिसके लिए स्कूलों को चेक के माध्यम से भुगतान किया जाता है। लेकिन पिछले 3 महीनों से जिला परिषद के शिक्षा विभाग में जो बिल दिए गए हैं अब तक उन स्कूलों को निधि का भुगतान नहीं किया गया है। इस बारे में शिक्षा विभाग से मिली जानकारी के अनुसार मार्च एंडिंग होने की वजह से यह बिल रुके हुए हैं।

पिछले वर्ष भी लगभग तीन से चार महीने से स्कूलों के बिल रुके हुए थे। जिसका भुगतान फरवरी महीने में किया गया था। विभाग की जानकारी के अनुसार हर बार वह स्कूलों से बिल आने के तुरंत बाद राज्य सरकार को भेज देते हैं। लेकिन सरकार की ओर से ही लेट भुगतान किया जाता है। विभाग से यह भी दावा किया जा रहा है कि ३ से चार दिनों में स्कूलों को निधि का भुगतान किया जाएगा।

हालांकि अभी स्कूल बंद होने की वजह से स्कूलों को ज्यादा परेशानी नहीं होगी। लेकिन जब स्कूल शुरू भी होते है तब भी शालेय पोषण आहार के बिलों का भुगतान सरकार की ओर से लेट ही किया जाता है।