Published On : Fri, Jan 4th, 2019

नागपुर यूनिवर्सिटी के जूलॉजी विभाग का एंडोक्रिनोलॉजी व शरीर विज्ञान पर अंतरराष्ट्रीय परिषद का आयोजन

अंतर्राष्ट्रीय ‘ हम्बोल्ट कोलेग ऑन कम्पेरेटिव एंडोक्रिनोलॉजी एंड फैसिओलॉजी’ कौंसिल 7 जनवरी से 9 जनवरी तक आयोजित

नागपुर: नागपुर यूनिवर्सिटी के जूलॉजी विभाग की ओर से ‘ हम्बोल्ट कोलेग ऑन कम्पेरेटिव एंडोक्रिनोलॉजी एंड फैसिओलॉजी’ इस कौंसिल का आयोजन 7 जनवरी से लेकर 9 जनवरी के दौरान अमरावती मार्ग के मिडोस में होगा. इंडियन सोसाइटी ऑफ़ कम्पेरेटिव एंडोक्रिनोलॉजी (आएससीई ), इंटरनेशनल एसोसिएशन ऑफ़ स्ट्रेस फिसिओलॉजिस्ट ( आयएएसपी ) और नागपुर यूनिवर्सिटी के संयुक्त प्रयास से यह किया जा रहा है.

इसमें प्रसिद्द शास्त्रज्ञ कर्नाटक यूनिवर्सिटी के पूर्व कुलगुरु साथ ही शांति स्वरूप भटनागर पुरस्कार विजेता प्रोफ़ेसर एस.के सैदापुर के हाथों कोलेग का उदघाटन होगा. नागपुर यूनिवर्सिटी के कुलगुरु इस कार्यक्रम के अध्यक्ष होंगे. इसके साथ ही जर्मनी के उपमहा-वाणिज्य दूत (डिप्टी कौंसिल जनरल ) मारजा इनिंग और नागपुर यूनिवर्सिटी के प्राणीशास्त्र विभाग के पूर्व विभाग प्रमुख साथ ही पूर्व हम्बोल्ट प्रैक्टिशनर प्रोफ़ेसर पी.डी.प्रसाद राव मौजूद रहेंगे. जर्मनी के जॉर्ज ऑगस्ट यूनिवर्सिटी के प्रोफ़ेसर रोलैंड डोश और कौंसिल के समन्यवयक प्राणीशास्त्र विभाग प्रमुख डॉ. अरुण जाधव इस कार्यक्रम में मौजूद रहेंगे . यह जानकारी नागपुर यूनिवर्सिटी में आयोजित पत्र परिषद् में दी गई.

‘ हम्बोल्ट कोलेग ऑन कम्पेरेटिव एंडोक्रिनोलॉजी एंड फैसिओलॉजी’ परिषद् का आयोजन करने का उद्देश्य इस विषय पर संशोधन करनेवाले साथ ही इस विषय के क्षेत्र में कार्यरत विशेषज्ञों को एकत्रित करना और एंडोक्रिनोलॉजी के साथ शरीर विज्ञान के विषय पर चर्चा करना है. इस निमित्त पर इस क्षेत्र में शुरू संशोधन, उसके लाभ, उसमे आनेवाली कठिनाई पर चर्चा हो इसलिए इसका आयोजन किया जा रहा है.

इस परिषद् में कुछ शोधप्रबंध भी दिखाए जाएंगे साथ ही पोस्टर प्रेजेंटेशन भी किया जाएगा. इस परिषद् के लिए राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर के कुल 200 लोगों ने रजिस्ट्रेशन किया है. इसमें पुर्तगाल, जर्मनी, इटली, कनाडा, न्यूजीलैंड के कुल 12 विशेषज्ञों का इसमें समावेश रहेगा. इसके साथ ही 4 हम्बोल्ट प्रैक्टिशनरों ने इसकौंसिल के लिए रजिस्ट्रेशन किया है.