Published On : Mon, Jan 8th, 2018

युवाओं को संगठन से जोड़ने के लिए RSS ने शुरू किया बड़ा अभियान

15 वर्ष से अधिक उम्र के युवाओं को संगठन के साथ जोड़ने के लिए राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) ने महाराष्ट्र के कई इलाकों में बड़े स्तर पर सदस्यता अभियान की शुरुआत की है। आरएसएस के ऑनलाइन सदस्यता अभियान को लोगों से व्यापक समर्थन मिलने के बाद अब संघ युवाओं को संगठन के साथ जोड़ने के लिए बड़े स्तर पर कवायद शुरू की है।

इसी सदस्यता अभियान के क्रम में आरएसएस ने रविवार को मुंबई और कोकण क्षेत्र में ‘हिंदू चेतना संगम’ का आयोजन किया गया। मुंबई और कोकण में कुल 263 स्थानों पर हुए इस कार्यक्रम में बड़ी संख्या में युवाओं ने हिस्सा लिया। इसके साथ ही सदस्यों की संख्या बढ़ाने और उनसे लगातार संवाद बनाए रखने के लिए आरएसएस ने हिंदू चेतना संगम नाम के एक मोबाइल ऐप्लीकेशन का भी निर्माण किया है।

ऑनलाइन सदस्यता अभियान को व्यापक समर्थन

इस सदस्यता अभियान के बारे में बताते हुए आरएसएस कोंकण क्षेत्र के संपर्क प्रमुख प्रमोद बापट ने कहा कि यह पहली बार है जब आरएसएस ने गलियों में मौजूद अपने बूथों पर भी सदस्यता अभियान की शुरुआत की है। हमारे ऑनलाइन कैंपेन को साल 2016 में शुरू होने के बाद से ही बहुत अच्छा फीडबैक मिल रहा था और हर साल करीब 30 हजार लोग इस कैंपेन के माध्यम से संघ से जुड़ रहे थे। इसी के मद्देनजर संघ ने इतने बड़े स्तर पर सदस्यता अभियान की शुरुआत की जिससे संगठन में विश्वास रखने वाले तमाम युवाओं को इससे जोड़ा जा सके।

पहली बार साल में दो कैंप का आयोजन

उन्होंने बताया कि यह पहली बार है जब संघ ने एक साल में दो बार कैंप का आयोजन किया। इन 8 दिवसीय आवासीय कैंप में 25 से 40 वर्ष के आयुवर्ग के तमाम लोगों ने हिस्सा लिया। इसके अलावा हाल ही में संघ से जुड़े युवाओं के लिए भी एक प्रशिक्षण शिविर का आयोजन किया गया।

57 हजार से अधिक शाखाओं का संचालन

उल्लेखनीय है कि संघ के द्वारा उसके स्वयंसेवकों के लिए नियमित तौर पर तीन शिविरों का आयोजन किया जाता है जिसका अंतिम चरण नागपुर में आयोजित होता है। इसके साथ ही युवाओं को संघ से जोड़ने के लिए कई छोटे-छोटे शिविर भी आयोजित किए जाते रहे हैं। आंकड़ों की माने तो देश भर में हर रोज संघ की कुल 57 हजार से अधिक शाखाओं का संचालन किया जाता है जबकि हर सप्ताह संगठन के सदस्यों की 14 हजार से अधिक बैठकें भी संचालित की जाती हैं।