Published On : Tue, Sep 25th, 2018

भारिप बहुजन महासंघ ने की संघ के अवैध हथियार जब्त करने की मांग

 

नागपुर: भारिप बहुजन महासंघ ने आरएसएस प्रमुख व संस्था के पास रखे हुए अवैध हथियारों को तुरंत जब्त कर कार्रवाई करने की मांग को लेकर सीपी कार्यालय तक मोर्चा निकाला. प्रदेश महासचिव सागर डबरासे के नेतृत्व में इस मोर्चे में पार्टी के कार्यकर्ता बड़ी संख्या में शामिल हुए. डबरासे ने कहा कि देश में नागरिकों की सुरक्षा के लिए संविधान है और उसके तहत पुलिस विभाग है.

आरएसएस अपंजीकृत संस्था है और बिना लाइसेंस बड़े पैमाने पर विविध शस्त्र उसके पास हैं. विजयादशमी के दिन उन शस्त्रों की सार्वजनिक रूप से पूजा की जाती है. पुलिस को गैरकानूनी रूप से जमा रखे गए यह शस्त्र तुरंत जब्त करने की कार्रवाई करनी चाहिए. मोर्चा सीपी कार्यालय तक ले जाया गया. डबरासे ने कहा कि हिंदूवादी संगठन के लोगो के पास अवैध हथियार होने के चलते ही गोविंद पानसरे व गौरी लंकेश की हत्या की गई थी. यह संगठन समाज व देश में भय का वातावरण बनाने का काम कर रहा है.

 


भारिप की ओर से चेतावनी दी गई कि अगर पुलिस ने जल्द ही संघ के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की तो राज्य भर में भारिप की ओर से तीव्र आंदोलन किया जाएगा. भारिप बहुजन महासंघ की ओर से 6 सिंतबर को कोतवाली पुलिस थाना में इस संदर्भ में लिखित शिकायत भी दर्ज की गई थी लेकिन अब तक पुलिस ने कोई जांच या कार्रवाई नहीं की.

मोर्चा में शहर अध्यक्ष रवि शेंडे, राजू लोखंडे, नितेश जंगले, मिलिंद मेश्राम, सचिन मेश्राम, भूषण भस्मे, राजेश भंडारे, विशाल गोंडाणे, वनमाला उके, विशाल वानखेडे, प्रशांत नारनवरे, आशय पगारे, प्रहलाद गजभिये, धरमपाल वंजारी, चंद्रकांत दहीवाले, मिलनकुमार सहारे, रवि वंजारी, बालू हरकंडे, निर्भय बागड़े सहित बड़ी संख्या में कार्यकर्ता शामिल हुए.