| |
Published On : Tue, Oct 16th, 2018
nagpurhindinews | By Nagpur Today Nagpur News

RSS शस्त्र पूजन: आरटीआई कार्यकर्त्ता ने न होने देने की उठाई माँग

नागपुर: दशहरे के अवसर पर संघ प्रमुख द्वारा शस्त्र पूजन की परंपरा राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की स्थापना से ही चली आ रही है। लेकिन इस वर्ष इसे लेकर विवाद खड़ा हो गया है। भारिप बहुजन महासंघ के नेता डॉ प्रकाश आंबेडकर के साथ अन्य लोगो ने सार्वजनिक तौर पर संघ के शस्त्र पूजन को गैरकानूनी करार देते हुए इस परंपरा पर रोक लगाने की माँग की है। इस विवाद के बावजूद संघ इस वर्ष भी अपनी परंपरा को निभायेगा।

आरएसएस के विदर्भ प्रांत के प्रचार प्रमुख अनिल सांबरे के मुताबिक इस वर्ष भी संघ प्रमुख द्वारा दशहरा के अवसर पर किये जाने वाले शस्त्र पूजन का कार्यक्रम होगा। बाकायदा रैली स्थल पर ही सार्वजनिक तौर पर सरसंघचालक परंपरा का निर्वाह करते हुए शस्त्र पूजन की विधि को पूरा करेंगे। गौरतलब हो कि हिंदू मान्यताओं में दशहरे के अवसर पर शस्त्र का पूजन करने की परंपरा राजा राजवाड़े के समय से चली आ रही है। इसी परंपरा को संघ द्वारा भी आत्मसाथ किया गया और संघ अपनी स्थापना के साथ ही यह कार्यक्रम लेता आया है। दशहरे के अवसर पर नागपुर के रेशमबाग मैदान में आयोजित कार्यक्रम के दौरान संघ प्रमुख स्वयंसेवकों को संबोधित करते है। इसी दौरान शस्त्र पूजन की विधि की जाती है।

अनिल सांबरे के अनुसार इस वर्ष संघ की निमंत्रण पत्रिका में शस्त्र पूजन का जिक्र नहीं किया गया है। जिस वजह से लोगो के मन में यह शंका पैदा हुई कि इस वर्ष यह कार्यक्रम नहीं होगा। लेकिन ऐसा बिलकुल नहीं है। संघ देश की और अपनी परंपरा का निर्वाह करेगा। जैसा आयोजन पहले होता था ठीक उसी ढंग से इस वर्ष भी कार्यक्रम होगा। संघ के पास रखे शास्त्रों को खास दशहरे के अवसर पर बाहर निकाला जाता है। इस शास्त्रों को साफ़ करने के बाद उसकी पूजा की जाती है। ये परंपरा लंबे समय से देश में चल रही है।

संघ के शस्त्र पूजन के विवाद के बीच मोहनीश जबलपुरे नामक शख्श ने जिलाधिकारी को पत्र लिखकर संघ के कार्यक्रम के सार्वजनिक तौर पर शस्त्र पूजन नहीं होने देने की अपील की है। मोहनीश ने आरटीआई के माध्यम से कोतवाली थाने से संघ के शस्त्रों की जानकारी माँगी थी। जिसमे पुलिस विभाग द्वारा जवाब दिया गया कि इसकी जानकारी उनके पास नहीं है। जिसके बाद मोहनीश कोर्ट गए जिस पर कोतवाली थाने को नोटिस जारी कर इस मसले पर ज़वाब माँगा गया था।

बाल स्वयंसेवकों के कार्यक्रम में किया गया शस्त्र पूजन
इस रविवार को ही नागपुर में कई जगहों पर बाल स्वयंसेवकों का विजयादशमी उत्सव संपन्न हुआ। इस कार्यक्रम के दौरान परंपरा का निर्वहन करते हुए। अतिथियों द्वारा शस्त्र पूजन की विधि संपन्न की गई।

Stay Updated : Download Our App