Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!
    | | Contact: 8407908145 |
    Published On : Thu, Jun 14th, 2018
    nagpurhindinews | By Nagpur Today Nagpur News

    विफलताओं ने कुंद कर दी फायरब्रांड राज ठाकरे की धार!

    साल 2008 की बात है। जेट एयरलाइंस ने 800 कर्मचारियों को नौकरी से निकाल दिया। सुगबुगाहट थी कि 1100 अन्य अस्थायी कर्मचारियों को भी निकाला जा सकता है। इन कर्मचारियों में कई मराठी भी शामिल थे। उन्होंने राज ठाकरे से मदद की गुहार लगाई। उस वक्त राज ठाकरे की धमक उरूज पर थी। राज ने जेट एयरलाइंस के मालिक नरेश गोयल को धमकी दी कि अगर उन्होंने 12 घंटे के अंदर निकाले गए कर्मचारियों को वापस काम पर नहीं रखा तो महाराष्ट्र के अंदर उनका कोई विमान नहीं उड़ने दिया जाएगा। राज ठाकरे की इस धमकी से हड़कंप मच गया।

    राज ठाकरे से जुड़ा यह कोई पहला विवाद नहीं है। आज उनका 50वां जन्मदिन है। आइए नजर डालते हैं उनसे जुड़े विवादों की एक लंबी फेहरिस्त पर…

    – आईपीएल-3 के दौरान शिवसेना के साथ मिलकर राज ठाकरे की पार्टी ने ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों को मुंबई में खेलने से रोक दिया। ऑस्ट्रेलिया में भारतीय छात्रों पर हो रहे लगातार हमले के विरोध में यह फैसला लिया गया था।

    – मनसे कार्यकर्ताओं ने 2008 में मुंबई में अंग्रेजी साइन बोर्ड को काला करना शुरू किया। उनकी जगह पर मराठी साइन बोर्ड लगाने की बात कही गई।

    – साल 2008 में ही राज ठाकरे ने अमिताभ बच्चन की सभी फिल्मों पर बैन लगाने की धमकी दी। दरअसल, जया बच्चन ने एक बयान दिया था जिसमें उन्होंने कहा कि हम यूपी वाले हैं, हिंदी बोलेंगे मराठी नहीं। राज ठाकरे का मानना था कि इससे मराठियों की भावना को चोट पहुंची है। अमिताभ बच्चन की माफी के बाद ही मामला शांत हो सका था।

    – 2 अक्टूबर 2009 को मनसे कार्यकर्ताओं ने ‘वेक अप सिड’ फिल्म के खिलाफ भी विरोध प्रदर्शन किया। कार्यकर्ता फिल्म में मुंबई की बजाए कुछ सीन में बॉम्बे के इस्तेमाल से नाराज थे।

    2006 में महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना की स्थापना के साथ ही राज ठाकरे विवादों को न्यौता देते रहे। लेकिन 2014 महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में उनकी पार्टी को महज एक सीट मिली। ऐसा प्रतीत होता है कि लगातार चुनावी विफलताओं ने अब राज ठाकरे की फायरब्रांड धार कुंद कर दी है। हालांकि बीच-बीच में अपने कार्टूनों और बयानों के जरिए वो सुर्खियां बटोरते रहते हैं।

    50वें जन्मदिन पर राज ठाकरे की जिंदगी से जुड़े कुछ अन्य रोचक पहलुओं पर एक नजरः-

    – राज ठाकरे 14 जून 1968 को पैदा हुए थे। उनके बचपन का नाम स्वराज ठाकरे था। उन्होंने शुरुआती शिक्षा दादर के एक स्कूल प्राप्त की। राज ने सर जेजे कॉलेज ऑफ आर्ट्स से स्नातक की पढ़ाई की है।

    – राज ठाकरे को बचपन से ही कला से लगाव था। उन्होंने छोटी उम्र में ही तबला, गिटार और वायलिन बजाना सीख लिया था। राज फिल्मों में काम करना चाहते थे।

    – उनके रौबीले भाषण और वाकपटु शैली में बाला साहब ठाकरे की छवि दिखती है। शिवसेना के समर्पित कार्यकर्ता रहे राज ठाकरे ने 2006 में तल्ख तेवरों के साथ महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना बनाई।

    -राज ठाकरे की पत्‍नी शर्मिला, मराठी फिल्मों और थिएटर के प्रसिद्ध कलाकार और निर्माता-निर्देशक मोहन वाघ की बेटी हैं। उनके एक बेटा अमित ठाकरे और बेटी उर्वशी ठाकरे है।

    – राज ठाकरे श्रीकांत ठाकरे के बेटे हैं जो बाल ठाकरे के छोटे भाई थे। उनकी मां कुंदा ठाकरे भी बाल ठाकरे की पत्नी मीना ठाकरे की छोटी बहन हैं।

    – राज ठाकरे एक अच्छे कार्टूनिस्ट हैं। बाल ठाकरे की साप्ताहिक पत्रिका मार्मिक में वो कार्टून बनाते थे।

    Stay Updated : Download Our App
    Mo. 8407908145