Published On : Wed, Jan 2nd, 2019

रेलवे स्टेशन के ओला कैब स्टैंड पर छूटा यात्री का सामान लौटाया

नागपुर आरपीएफ ने ईमानदारी और सतर्कता का दिया परिचय

नागपुर: नागपुर आरपीएफ की ओर से एक बार फिर एक यात्री को उसका खोया समान लौटाकर सतर्कता और ईमानदारी का परिचय दिया. यात्री अपनी बैग नागपुर स्टेशन के ओला कैब स्टैंड के पास भूल गया था. उस बैग में तीन मोबाइल भी थे.

जानकारी के अनुसार बुधवार को नागपुर स्टेशन एरिया में गश्त के दौरान उपनिरीक्षक गौरीशंकर एडले को मेनगेट के सामने बने ओला-कैब स्टैन्ड काउन्टर के सामने एक ट्राॅली बैग लावारिस हालत में दिखाई दिया. आस – पास कोई नहीं होने के कारण उपनिरीक्षक द्वारा काउन्टर पर बैठे व्यक्ति तथा कुलियों से बैग के संबंध में पूछताछ की गई तो किसी ने भी बैग पर हक नहीं जताया.

जिस पर उपनिरीक्षक द्वारा उस बैग को लगेज बैग स्केनिंग मशीन में लाकर चेक कराया गया तो बैग में तीन मोबाईल नजर आए. उपनिरीक्षक द्वारा स्टाफ की सहायता से बैग को आरपीएफ थाना नागपुर लाकर जानने पर उसके अंदर कुछ नए तथा पुराने पहनने के कपड़ों के अलावा 3 अलग – अलग कम्पनी के मोबाईल मिले. कार्रवाई के दौरान ही एक व्यक्ति आरपीएफ थाना नागपुर आया और अपना परिचय बैग के मालिक के रूप में देते हुए अपना नाम विक्रम सुरी चांदनी चैक, दिल्ली निवासी बताया. उन्होंने बताया कि वह ट्रेन नं. 22692 राजधानी एक्सप्रेस से दिल्ली से नागपुर आए थे.

घर जाने हेतू ओला स्टैन्ड पर वाहन बुक करने हेतू खड़ा हुआ और एक वाहन बुक कर गाड़ी के अंदर बैठ गया. घर पहुंचने पर गाड़ी से सामान उतारते समय एक ट्राॅली बैग स्टैंड पर ही भूलने का समझ आया जिसे लेने वह आया है. उसने बैग में रखे सामान का ब्योरा दिया. जिसके अनुसार बैग के अंदर मोबाईल तथा नए व पुराने पहनने के कपड़े जिसकी कुल कीमत करीबन 21 हजार रुपए होगी, स्टैन्ड पर ही कही छूट गया. यात्री ने बताया कि अपना ट्राॅली बैग ढूंढने हेतू दोबारा स्टेशन पर आया तो जानकारी मिली कि, उस बैग को आरपीएफ थाना नागपुर में जमा किया गया है.

जिस पर उपनिरीक्षक द्वारा यात्री द्वारा पेश किए गए कागजातों की पुष्टि कर निरीक्षक नागपुर वी.एन.वानखेडे की उपस्थिति में यात्री का एक ट्राॅली बैग सुरक्षित यात्री के हवाले किया गया. यात्री द्वारा उसका सामान सुरक्षित मिलने पर आरपीएफ नागपुर द्वारा की गई त्वरित कार्रवाई की उन्होंने सराहना की.