Published On : Mon, Dec 15th, 2014

सावनेर : रामाडोंगरी रेत घाट पर छापा

 

  • रेत तस्कर योगेश गोखे सहित अन्य कई तस्कर गिरफ्तार
  • एक पोकलेन सहित 12 ट्रक जब्त
  • 2 करोड़ 18 लाख रुपये का माल जब्त

Sand theft
सावनेर (नागपुर)। पिछले कई वर्षों से सावनेर तालुका के कन्हान नदी से अवैध तरीके से रेत माफिया द्वारा रेत की ढुलाई की जाती रही. इस मामले में सावनेर तहसील कार्यालय की ओर से चार महीनों में एक बार कार्यवाही कर मामला सलटा कर कार्यालय वाहवाही लूटती रही. ऐसी परिस्थितियों के बीच 5 दिसम्बर को नागपुर ग्रामीण अपराध शाखा की ओर से रामाडोंगरी रेत घाट पर छापा मार कर लाखों का माल जब्त किया गया. फिर शनिवार 13 दिसम्बर की मध्य रात्रि 12 बजे के दरमियान तहसीलदार व खापा पुलिस के संयुक्त तत्वावधान में खापा के करीब रामाडोंगरी रेत घाट पर छापा मारकर एक पोकलेन मशीन व 12 ट्रक जब्त कर कुल 2 करोड़ 18 लाख रुपये का माल जब्त किया गया. अब तक की यह सबसे बड़ी कार्यवाही समझी जा रही है.

प्राप्त जानकारी के अनुसार, पूर्ण प्रतिबंधित रामाडोंगरी रेत घाट पर छापा मारते हुए पोकलेन चालक पीतांबर शेषराव ठाकरे, मालिक योगेश गोखे, ट्रक क्र. एम.एच. 40 वाई 7319, चालक राजकुमार शंकर नागोसे, ट्रक क्र. एम.एच. 40 वाई 2817 चालक भुनेश्वर उमाशंकर शाहू, मालिक उमाशंकर नत्थूराम शाहू ट्रक क्र. एम.एच. 40 एन 4441 चालक सिद्धार्थ सदाशिव सोमकुंवर मालिक योगेश गोखे, ट्रक क्र. एम. एच. 31 एम 5026 चालक गौतम उदाराम बोरकार, मालिक मोहन सुरेश धांदे ट्रक क्र. एम.एच. 40 वाई 1905 चालक नीलकण्ठ बालकृष्ण टेकाम मालिक गुफरान सिद्दीकी ट्रक क्र. एम.एच. 40 वाइ 2415 चालक राजू प्रभाकर बागड़े मालिक लज्जा बागड़े ट्रक क्र. एम.एच. 40 वाइ 2915 चालक दादाराव बापूराव इवनाते मालिक लाहुकुमार बांगड़े ट्रक क्र. एम.एच. 31 डब्ल्यू 5359 चाकल रविशंकर मडके मालिक संजय विनायक ढोबळे ट्रक क्र. एम. एच. 40 एन. चालक हरिभाऊ किशन भलोने मालिक लाहुकुमार बांगड़े ट्रक क्र. एम.एच. 31 सी.क्यू. 9717 चालक-मालिक मोहम्मद इरशाद अंसारी ट्रक क्र. एम.एच. 40 वाइ 5715 चालक अनिल रामनाथ उइके मालिक लहुकुमार बांगड़े ट्रक क्र. एम.एच. 31 एम 3711 चालक लक्ष्मण काशीनाथ कोल्हे मालिक गिरिधर माधव भुजाड़े उपरोक्त सभी आरोपी ट्रक में रेत भरते हुए पाये गए. सभी को गिरफ्तार कर उनसे ट्रक व अन्य सामान्य जब्त किया गया. अचानक मारे गए इस छापे से सहमे रेत तस्कर इधर-उधर भागने लगे थे. खापा पुलिस थाने में महाराष्ट्र जमीन महसूल अधिनियन 1962 के अंतर्गत भादवि की धारा 379, 511, 34 के तहत मामला क्रमांक 109/14 दर्ज किया गया. दूसरी ओर ऐसा समझा जा रहा है यदि ऐसी कार्यवाही बारंबार की जाती रही तो सरकार की करोड़ों का राजस्व नहीं डूबेगा और योगेश गोखे जैसे रेत तस्करों को सलाखों के पीछे भेजे जाते रहे तो फिर किसी अन्य माफिया की रेत चुराने की हिम्मत न होगी.

Sand theft  (1)
ऐसे में सवाल उठ रहे हैं कि क्या नागपुर विधानमण्डल के शीतकालीन अधिवेशन को देखते हुए इतनी बड़ी कार्यवाही की गई? क्या यह मंत्रियों के ध्यानाकर्षण कराने से संबंधित है? अधिवेशन के बीच ऐसी कार्यवाही कर अधिकारियों ने कत्र्तव्यदक्षता के सबूत तो पेश कर दिए लेकिन लोगों का मानना है कि क्या ऐसी कार्यवाही के अलावा रेत की चोरी पूरी तरह से रोकने की कोई स्थायी उपाय योजना की जाएगी या फिर माफिया के सक्रिय होने के बाद प्रशासन जागेगा?