Published On : Tue, Aug 23rd, 2016

जनता परेशान, पर वित्त राज्य मंत्री की नजर में नहीं है महंगाई

Santosh Gangwar
नागपुर:
नागपुर 15 अगस्त को लाल किले से दिए गए अपने भाषण में प्रधानमंत्री ने बढ़ती महंगाई पर जल्द काबू पाने की बात कही थी। उनके इस बयान से साफ होता है कि देश में महंगाई बढ़ी है। पर नागपुर पहुँचे केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री ने खुदरा बाजार में महँगाई की बात को सिरे से ख़ारिज कर दिया है। केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री संतोष गंगवार के मुताबिक देश में महंगाई नहीं है। खुदरा बाजार में सिर्फ दालों की कीमते बढ़ी है। जबकि महंगाई दर में कमी आई है। केंद्रीय मंत्री की महंगाई न बढ़ने की बात किस तरह हजम की जाये? यह बड़ा सवाल है। क्योंकि बाजार में सब्जी से लेकर शक्कर, अनाज से लेकर तेल सब महँगा है। बढ़ी महंगाई से जनता रोज सामना कर रही है। पर केंद्रीय मंत्री को महंगाई दिखाई नहीं देती। जबकि प्रधानमंत्री खुद इस बात को मान रहे है।

पत्रकारों से बात करते हुए वित्त राज्य मंत्री ने कहा कि केंद्र सरकार दो साल पुरे कर रही है। सरकार के कामकाज का आकलन दो साल बनाम 60 साल को लेकर हो रहा है। इन दो वर्षो में केंद्र ने कई ऐतिहासिक काम किये जिसमे जीएसटी प्रमुख है। इस बिल को सर्वसम्मति से पास करने में सरकार को सफलता मिली है। आने वाले एक महीने के भीतर सभी राज्य इसे मंजूरी दे देगे। जिसके बाद बिल प्रारूप को तैयार करने के लिए समिति का गठन किया जायेगा।

नए गवर्नर का समर्थन
आरबीआई के नये गवर्नर उर्जित पटेल की बड़े औद्योगिक घरानों से रिश्ते के चलते विवाद खड़ा हो गया है। पर वित्त राज्य मंत्री इस विवाद को बेवजह मानते है। संतोष गंगवार के मुताबिक पिछले गवर्नर ने अपना कार्यकाल पूरा किया है। जिसके बाद नियमो के अनुसार पटेल की नियुक्ति हुई है। आरबीआई से जुड़ने के पहले उनके औद्योगिक घरानों और कंपनियों से संबंध थे। पर इस पद पर उनका चयन उनकी काबिलियत और लो प्रोफ़ाइल होने की वजह से हुआ है।