Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!
    | | Contact: 8407908145 |
    Published On : Fri, Dec 30th, 2016
    nagpurhindinews | By Nagpur Today Nagpur News

    प्रधानमंत्री आवास योजना पर अमल नागपुर से

    deepak-mhaisekar
    नागपुर:
    जरूरतमंदों को अत्यंत सस्ते दाम पर घर मुहैया कराने की अत्यंत महत्वकांक्षी ‘प्रधानमंत्री आवास योजना’ पर अमल करने वाला देश का पहला शहर नागपुर होने जा रहा है। 1 जनवरी को इस योजना की शुरुवात देश में पहली बार नागपुर से होगी। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेन्द्र फड़णवीस, केंद्रीय भूतल परिवहन एवं जहाजरानी मंत्री नितिन गड़करी के साथ नागपुर के पालकमंत्री चंद्रशेखर बावनकुले इस योजना की आधारशिला रखेंगे। इस योजना की तहत पहले चरण में 1268 पक्के घर बनाए जाएंगे और जरूरतमंदों में वितरित किए जाएंगे। पहले चरण के लिए 15 महीने का वक़्त तय किया गया है। यानी 2018 के अप्रैल महीने तक नागपुर में 1268 पक्के घर प्रधानमंत्री आवास योजना की तहत जरुरतमंदों के नाम आवंटित हो चुके होंगे।

    नागपुर सुधार प्रन्यास (एनआईटी) के जरिए प्रधानमंत्री आवास योजना को नागपुर में लागू किया जा रहा है। नासुप्र अध्यक्ष डॉ. दीपक म्हैसकर ने यह जानकारी देते हुए बताया कि इस योजना के अंतर्गत एनआईटी ने कुल 15196 घर बनाने का लक्ष्य निर्धारित किया है। एनआईटी पररियोजना के पहले चरण में 5000 हजार और म्हाडा 758 घरो का निर्माण करेगा।

    घोपड़पट्टीवासियो को मालकीहक़ पट्टे दिए जाएंगे
    एनआईटी 1 जनवरी को ही घोपड़पट्टी वासियो को मालकीहक़ के पट्टे भी वितरित करेगी। एनआईटी सभापति डॉ दीपक म्हैसकर ने बताया 24 अगस्त 2016 के राज्य सरकार के जीआर के मुताबिक एनआईटी अधीनस्थ जमीन पर बने झोपड़पट्टियों के मालिकों को हक़ के दस्तावेज वितरित किए जाएंगे। मालकीहक़ के पट्टे का वितरण करने के लिए डिप्टी सिग्नल,आदर्शनगर, नेहरुनगर, प्रजापति नगर, न्यू पैंथर नगर, पांढराबोड़ी का चयन किया गया है। राज्य सरकार के नियम के मुताबिक जिनका 500 स्क्वायर फ़ीट पर कब्ज़ा है उन्हें जमीन मुफ्त में दी जाएगी। जिनका कब्ज़ा इससे ज्यादा होगा उनसे रेडीरेकनर के हिसाब से निकलने वाले संपत्ति मूल्यांकन का आधा हिस्सा लिया जायेगा।

    10 नए एसटीपी का होगा निर्माण
    एनआईटी ने ही शहर में नए 10 एसटीपी ( सीवरेज वाटर ट्रींटमेंट प्लांट ) बनाने जा रही है। कुल 65.3 एमएलडी क्षमता के ट्रीटमेंट प्लांट का उद्घाटन 1 जनवरी को ही किया जाएगा। इस काम के लिए लगभग 130 करोड़ का खर्च आएगा जो 18 महीने में बनकर तैयार होंगे।


    Stay Updated : Download Our App
    Mo. 8407908145