Published On : Tue, Mar 17th, 2015

मौदा : हड़ताल पर डटे है डाक सेवक, कामकाज बंद

Post-office--(2)
मौदा (नागपुर)। अखिल भारतीय ग्रामीण डाकसेवक कर्मचारी संघटना नागपुर की ओर से डाक खाते के सभी ग्रामीण और शहरी डाकसेवक कर्मचारियों ने अपनी विभिन्न मांगों के लिए 10 मार्च से शुरू हुए देशव्यापी धरने में मौदा के 10 शाखाओं के सभी डाक सेवक काम बंद करके शामिल हुए है.

मौदा तालुका के मौदा डिव्हीजन अंतर्गत आनेवाले मौदा, भुगाव, गुंथाला, उनगांव, मरोड़ि, धानला, निहारवाणी, गोवरी चिरव्हा, वडोदा और अन्य अनिश्चितकालीन देशव्यापी हड़ताल में शामिल हुए है. जिससे ग्रामीण क्षेत्र डाक व्यवस्था ठप्प पड़ी है. अभी दसवी-बारहवीं के पेपर शुरू है. डाक व्यवस्था के माध्यम से इस पेपर्स को योग्य जगह भेजा जाता है. लेकिन अनिश्चितकालीन हड़ताल इस पेपर्स के गठ्ठे पोस्ट ऑफिस में पड़े हुए है. डाक सेवकों के इस आंदोलन से जरुरी पत्रव्यवहार पर परिणाम हुआ है.

ग्रामीण डाक सेवकों के प्रमुख मांगों में डाकसेवकों को 7 वा वेतन आयोग का लाभ मिले, केंद्रीय कर्मचारियों का दर्जा मिले, काम 8 घंटे करके खाते में समाविष्ट करे, मृतक डाक सेवकों वारिस को अनुकंपा तत्व पर नौकरी दे, पोस्टमैन और एमटीएस की भर्ती करे, ग्रामीण डाकसेवकों को कर्मचारियों तरह 10,20,30 की तरह पदोन्नती वेतन दे ऐसी मांगों का समावेश है.

Post-office--(1)
मौदा के शंकर चकोले, एस.जी.चरडे, फूलचंद बालबुधे, सदानंद सहारे, मारोडी के दिगंबर मस्के, धानला के एस.एस. वंजारी, जी.जी. गेडाम,एम.व्ही पत्रे,  निहारवाणी के गुंडेराव वाडीभस्मे, गोवरी के चकोले और नागोसे, चिरव्हा की गीता बांते, ममता मस्के, वडोदा के मधुकर कारेमोरे, दशरथ ढोरे, भुगांव के सुभाष आम्बिलडुके, नागोराव आम्बिलडुके आदि का इसमें समावेश है.