Published On : Tue, Sep 3rd, 2019

PM दौरा : अब मानकापुर स्टेडियम में सभा

नागपुर: विधानसभा चुनावों के पूर्व नागपुर में 7 सितंबर को होने जा रही प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की जनसभा के लिए भले ही पहले कस्तूरचंद पार्क का स्थल निर्धारित किया गया, लेकिन बारिश के कारण कीचड़ से सने मैदान को देखते हुए यहां जनसभा संभव नहीं होने के चलते ही अब मानकापुर स्टेडियम में सभा होने जा रही है. सूत्रों के अनुसार शनिवार की शाम 5 से 7 बजे तक मानकापुर स्टेडियम में कई योजनाओं का ई-लोकार्पण होने की संभावना है. हालांकि मुख्य रूप से लोकमान्य तिलकनगर से बर्डी तक शुरू होनेवाली मेट्रो रेल का लोकार्पण तो तय है, लेकिन इसी के साथ संभवत: सिंदी में रेल कोच फैक्टरी, गोरेवाड़ा जू को केंद्र से मिली मंजूरी तथा प्रधानमंत्री के महत्वाकांक्षी प्रकल्प घरकुल योजना को भी हरी झंडी मिलने की संभावना सूत्रों ने जताई.

प्रशासन की बढ़ी परेशानी
कस्तूरचंद पार्क पर होनेवाली सभा के लिए एयरपोर्ट से लेकर केपी मैदान तक के मार्ग की सूरत बदलने के लिए प्रशासन की ओर से खासी तैयारियां की जा रही थीं. यहां तक कि सड़कों का भी हुलिया बदलने की कवायद की जा रही थी. लेकिन अब अचानक कार्यक्रम स्थल बदलने से प्रशासन की परेशानी बढ़ने की संभावना जताई जा रही है. हाल ही में मिली आतंकी घटनाओं की चेतावनी के चलते प्रधानमंत्री के रूट को काफी गोपनीय रखा जा रहा है. इसके बावजूद संभावित मार्ग के अनुसार एयरपोर्ट से वर्धा मार्ग होते हुए ही उनका जाना लगभग तय है, जिससे कम से कम वर्धा रोड को चाकचौबंद करने में प्रशासन जुटा हुआ है. इसके अलावा यदि वीआईपी रोड से भी उनका काफिला जाता है, तो वनभवन के पास की सड़क की दुर्दशा प्रशासन के लिए खासी परेशानी खड़ी कर सकती है.

अब नए सिरे से जुटा प्रशासन
उल्लेखनीय है कि कस्तूरचंद पार्क पर सभा निर्धारित किए जाने के बाद से प्रशासन की ओर से बारिश से भी निपटने के लिए कई इंतजाम किए जा रहे थे. यहां तक कि मंच के आसपास वीआईपी लोगों के बैठने की व्यवस्था को सुनिश्चित करने के लिए बारीक गिट्टी बिछाने के लिए ट्रकों से गिट्टी लाई गई.

लेकिन अब अचानक कार्यक्रम स्थल बदलने से प्रशासन की 3 दिन की मेहनत बेकार गई. अब नए सिरे से कार्यक्रम स्थल पर सुरक्षा के साथ ही अन्य व्यवस्था के लिए प्रशासन जुट गया है. एक ओर जहां प्रशासन जुटा है, वहीं इसका राजनीतिक लाभ उठाने के लिए भाजपा की ओर से भी मंगलवार को महत्वपूर्ण बैठक ली गई, जिसमें विधायकों से लेकर तमाम पदाधिकारी उपस्थित थे.