Published On : Thu, Apr 15th, 2021

सरकारी आदेश को नहीं मान रहे निजी स्कूल

– फीस वसूली के लिए जबरन परीक्षाएं ले रही स्कूल – अग्रवाल

नागपुर – विदर्भ पेरेंट्स एसोसिएशन के अध्यक्ष संदीप अग्रवाल ने आरोप लगाया है की फीस वसूली के लिए जबरन परीक्षाएं लेने का ढोंग कर रही निजी स्कूले जबकि सरकार ने पहले ही दसवीं तक की परीक्षाएं रद्द कर सभी बच्चो को अगली क्लास में प्रमोट करने का आदेश सरकार द्वारा पहले ही जारी कर दिया गया है। इसी तरह CBSE ने भी दसवीं की परीक्षाएं रद्द कर दी है जिसके बावजूद निजी स्कूले अपने मन मुताबिक सरकारी आदेशों की व्याख्या कर उसे गलत परिभाषित कर फीस वसूली के लिए पालको को भ्रमित कर रही है यह एक बड़ा षड्यंत्र है।

कई निजी स्कूलों ने आज परीक्षाएं ली और जिन बच्चो पर फीस के पैसे बकाया थे उन्हें ऑनलाइन परीक्षाओ में बैठने नहीं दिया। यह पूरी तरह से राइट टू
एजुकेशन कानून का उल्लंघन है और सभी सरकारी आदेशों के विपरीत है।

आज कई स्कूलों ने परीक्षा की लिंक चालू कराने के नाम पर जबरन पालको से पैसे भरवाए। इस बाबत कई पालको ने शिक्षण उपसंचालक जामदार मैडम व शिक्षण अधिकारी जिल्हा परिषद श्री वंजारी से लिखित शिकायत की। श्री अग्रवाल ने मांग की शिक्षा विभाग इस मामले में तत्काल हस्तक्षेप कर स्पष्ट आदेश निकाले जिससे निजी स्कूले उसकी गलत व्याख्या कर पालको को भ्रमित न कर सके।