Published On : Tue, Jul 4th, 2017

रेलवे : 30 जून से पहले जारी टिकटों पर GST नहीं

Advertisement

Railway Ticket Counter
नागपुर:
 देश के सबसे बड़े आर्थिक सुधार के नाम से प्रचारित गुड्स एंड सर्विट टैक्स यानि जीएसटी से उन यात्रियों को राहत मिलेगी, जिन्होंने अपनी टिकटों की बुकिंग 30 जून से पूर्व की थी. क्योंकि इन टिकटों पर जीएसटी नहीं लगाया जाएगा, भले ही यात्रा जुलाई, अगस्त या सितंबर माह की ही क्यों न हो. हालांकि पहले कहा जा रहा था कि, जीएसटी लागू होने बाद उन रेल टिकटों पर भी जीएसटी लागू किया जायेगा. जिनमें यात्रा की तारीख 1 जुलाई के बाद है. ऐसे में यात्रियों से ट्रेन में ही पुराने और नये किराये का बीच का अंतर वसूला जाएगा. लेकिन रेलवे ने एकाएक इस कदम को रोक लिया और यात्रियों को राहत दे दी. उल्लेखनीय है कि जीएसटी लागू होने के बाद रेवले में 4.5 प्रतिशत सेवाकर को समाप्त कर 5 प्रतिशत के हिसाब से जीएसटी लगाने का निर्णय लिया गया है.

इसमें यात्री किराये के अलावा पार्सल आदि भी शामिल हैं. पार्सल लीज और नान लीज दोनों हो सकते हैं. हालांकि पार्सल के विषय में कुछ विशेष स्थितियों में जीएसटी नहीं लिया जाएगा. इनमें प्राकृतिक या मानव निर्मित आपदाओं, दुर्घटनाओं, दुर्घटनाओं से शिकार लोगों के लिए राहत सामग्री, समाचार पत्र एवं पत्रिकाएं, रेलवे के उपकरण एवं सामान, रक्षा एवं सैन्य उपकरण के अलावा कृषि उत्पाद, दूध, नमक, अनाज, आटा, दाल, चावल एवं जैविक खाद शामिल हैं.

रेलवे टिकट नियमों में थोड़ा बदलाव
जीएसटी लागू होते ही रेल टिकट से संबंधित नियमों में थोड़ा बदलाव हो गया है. इनमें एसी फर्स्ट क्लास, सेकंड और थर्ड के अलावा एसी चेयर कार, इकॉनामी क्लास, एसी स्पेशल ट्रेनों तथा एफटीआर कोचों में जीएसटी लागू है. यानि यात्रियों को अपनी किराये में 5 प्रतिशत जीएसटी के हिसाब से अधिक भुगतान करना होगा और कंबाइड टिकट के स्थान पर अब यात्रियों को प्वाइंट टू प्वाइंट टिकट जारी होगा.

Advertisement

ट्रेन में पकड़ाया अवैध गुटखा
जयपुर से चलकर चेन्नई जा रही ट्रेन 12968 एक्सप्रेस में रेलवे सुरक्षा बल ने तस्करी कर ले जाया जा रहा अवैध गुटखा जब्त किया गया. ट्रेन की जांच में ही आरपीएफ टीम को 2 खरगोश भी मिले जिनके बारे में किसी भी यात्री ने अपना बताने से इंकार कर दिया. जानकारी के अनुसार, जयपुर-चेन्नई एक्सप्रेस अपने निर्धारित समय 14.10 बजे प्लेटफार्म पर पहुंची. आरपीएफ जवान विकास शर्मा, बीएस यादव व विवेक कनौजिया ने जनरल कोच का तलाशी शुरू की.

इसी दौरान एक सीट ने नीचे बड़ा-सा लावारिस बोरा दिखाई दिया. खोलकर देखने पर बोरे में पान-मसाला और गुटखा के डिब्बे व पाउच के बड़े पैकेट मिले जिनकी कुल कीमत 5340 रुपए आंकी गई. सारा माल जब्त कर लिया गया. तलाशी जारी ही थी कि बोरे के पास पड़ी थैली में एक पिंजरा दिखाई दिया, जिसमें 2 खरगोश थे. किसी भी यात्री ने इसे अपना बताने से इंकार कर दिया. ऐसे में खरगोशों को भी ट्रेन से उतार लिया गया. कार्रवाई सीनियर डीएससी सतीजा के मार्गदर्शन में एपीआई केएन राय, आरके त्रिपाठी आदि द्वारा पूरी की गई.

Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement