Published On : Fri, Feb 3rd, 2017

लिस्ट जारी होते ही उमड़ा बीजेपी कार्यकर्ताओं का गुस्सा


नागपुर: मनपा चुनाव के लिए बीजेपी उम्मीदवारों की लिस्ट जारी होने के साथ ही महल स्थित केंद्रीय मंत्री नितिन गड़करी के घर टिकिट न मिलने से नाराज़ कार्यकर्ताओं ने जमकर हंगामा किया। बीजेपी की लिस्ट में करीब करीब 25 % मौजूदा नगरसेवकों की टिकिट कांटी गई है। टिकिट न मिलने से नाराज कार्यकर्ताओं ने नितिन गड़करी, पालकमंत्री चंद्रशेखर बावनकुले यहाँ तक की गड़करी के पीए और कर्मचारियों को भी घेरा। पार्टी में बगावत के डर से बीजेपी ने अंतिम समय तक उम्मीदवारों के नाम का ऐलान नहीं किया था ऐसे में पार्टी से टिकिट की आस लगाए बैठे कार्यकर्ताओं का गुस्सा अचानक फ़ूट पड़ा। नाराज़ कार्यकर्ताओं के गुस्से के सवाल पर मीडिया से बात करते हुए नितिन गड़करी ने कहाँ पार्टी में करीब साढ़े तीन हज़ार कार्यकर्ताओं ने टिकिट माँगी थी जिनमे से तीन से चार प्रतिशत लोगों को ही टिकिट दी जानी थी। उम्मीदवारों के चयन पार्टी द्वारा कराये गए सर्वे के आधार पर किया गया है.

गड़करी ने कहाँ उम्मीदवारों के लिए चयन के लिए उनकी मुख्यमंत्री पार्टी की पार्लियामेंट्री बोर्ड और विधायकों के साथ बैठक हुयी जिसके बाद नाम तय किये गए। लिस्ट जारी होने के बाद कही ख़ुशी कही गम है लेकिन बीजेपी डिसिप्लिन को मानाने वाली पार्टी है। उन्हें भरोषा है की नाराज़गी भूल कार्यकर्ता जल्द चुनाव में जुट जाएंगे। पार्टी उम्मीदवारों की जारी लिस्ट में खुद उनके ,मुख्यमंत्री और विधायकों के नाम भी शामिल नहीं हो पाए है। बीजेपी ने सभी समाज को प्रतिनिधित्व दिया है। गड़करी ने चुनाव में 100 सीटे जीतने का दावा किया।

वाड़े पर भरे गए उम्मीदवारी फॉर्म
पार्टी उम्मीदवारों का नाम पहले ही तय हो चुका था लेकिन लिस्ट ऐन वक्त पर जारी की गयी। इसलिए पार्टी उम्मीदवारों को फॉर्म भरने की दिक्कत न हो इसकी व्यवस्था गड़करी वाड़े पर ही की गई थी। वाड़े में मौजूद गड़करी निजी सहायक ख़ुद उम्मीदवारों के फॉर्म भरने से लेकर डॉक्यूमेंटेशन का काम कर रहे थे। जिन्हें बीजेपी से उम्मीदवारी मिली उन्हें सिर्फ ज़ोन कार्यालय में जाकर फॉर्म भरने की औपचारिकता निभानी थी।