Published On : Sat, Nov 3rd, 2018

मनपा शिक्षा विभाग कर रहा सूचना के अधिकार नियमों को नजरअंदाज

Advertisement

दोषियों पर कड़ी कार्रवाई की मांग

नागपुर – मनपा का शिक्षा विभाग हर साल अपनी स्कूलों के लिए खेल सामग्रियों की खरीदी करता है. लेकिन इसके लिए कितना ख़र्च किया गया इसकी जब सूचना अधिकार के तहत जानकारी मांगी गई तो टालमटोल का रवैय्ये पर मनपा उतारू हो गई. ऐसे गैर जिम्मेदाराना रवैय्ये को लेकर संबंधित अधिकारियों पर कड़ी कार्रवाई करने की मांग आरटीआई कार्यकर्ता ने की है.

Advertisement

इस आरटीआई कार्यकर्ता ने शिक्षा विभाग से जानकारी मांगी थी कि हर साल खरीदी जाने वाली खेल सामग्रियों का लेखाजोखा, खरीदी का तौर तरीका और लाभार्थियों की जानकारी दी जाए. इस संदर्भ में आमसभा के साथ शिक्षा समिति की बैठक में यह मामला जितने जोर शोर से उठाया गया, उतनी ही तेजी से मामला रफा दफा भी कर दिया गया.

यही नहीं आरटीआई कार्यकर्ता को पहली अपील की 2 माह की मियाद खत्म होने से दो दिन पहले जानकारी दी गई कि अगले 3 दिन में सारी जानकारी दी जाएगी. जब कार्यकर्ता को जानकारी नहीं मिली तो उसने अपील की. कुछ दिनों बाद 30 अक्टूबर को 3 बजे अपील की सुनवाई का समय दिया गया. जब अपील के लिए शिक्षा विभाग पहुंचे तो सूचना अधिकार कार्यकर्ता हैरत में पड़ गए. विभाग में सन्नाटा और अपीलीय अधिकारी नदारत मिले. उपस्थित कर्मी ने जानकारी दी कि आपकी जानकारी दे दी जाए, संबंधित तक पहुंचा दी जाएंगी. लगभग 2 घंटे बाद किसी अधिकारी ने संपर्क किया और अपील पर सुनवाई हेतु पहुंचने का निर्देश दिया. असमर्थ आरटीआई कार्यकर्ता नियमानुसार अगली तिथि तय कर अवगत करवाने मांग की.

इसके बाद 4 दिन बीतने के बाद शिक्षण विभाग की सूचना अधिकार अधिनियम की अवहेलना बाद आज 3 नवंबर को सूचना अधिकार कार्यकर्ता शिक्षण विभाग पहुंचा तो संबंधित बाबू मुकेश ने पहले गुमराह करते हुए कार्यकर्ता को कहा कि जानकारी दे दी गई है. लेकिन जब कार्यकर्ता ने नाकारा तो मुकेश ने कागजातों को उलट पुलट का देखा तो जानकारी वहीं मिली. बाद में पता चला कि मुकेश बाबू सभी को गुमराह कर रहे हैं. संबंधित अधिकारी ने उस पर कार्रवाई करने के बजाय कार्यकर्ता को अगली तिथि देने की जानकारी देकर कार्यकर्ता को रवाना किया.

सवाल यह है कि शिक्षण विभाग में भारी गड़बड़ी के कारण मनपा शाला से विद्यार्थियों की संख्या कम होते जा रही है. दूसरी ओर शिक्षा विभाग में तैनात अतिमहत्वाकांक्षी कर्मी अपनी पहुंच के आधार पर अन्य लाभप्रद विभागों) में मजे काट रहे. जल्द ही सूचना अधिकार कार्यकर्ता मनपा आयुक्त से मुलाकात कर उक्त घटनाक्रम की जानकारी देकर सभी संबंधित पर कड़क कारवाई की मांग करने के साथ द्वितीय अपील दायर करेंगे.

Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement