Published On : Mon, Jul 24th, 2017

पूर्व आईपीएस ने कहा- कामसूत्र का पवित्र वर्जन ला रहा है संघ, नाम है ‘काउमसूत्र’

नई दिल्ली। पूर्व आईपीएस ऑफिसर संजीव भट्ट ने संघ को लेकर एक ऐसा बयान दिया है, जिसे लेकर विवाद हो गया है। संजीव भट्ट ने एक ट्वीट करते हुए यह बयान दिया है। उन्होंने लिखा है- मैंने सुना है कि मनुस्मृति की तरह संघ के लोग कामसूत्र का एक पवित्र वर्जन ला रहे हैं, वह इसे काउमसूत्र कहेंगे।

संजीव भट्ट के इस बयान के बाद सोशल मीडिया पर उनका ट्वीट वायरल होने लगा है और कुछ लोग उनके खिलाफ तो कुछ लोग उनके पक्ष में ट्वीट कर रहे हैं।

आपको बता दें कि कामसूत्र भारत के प्राचीन शास्त्रों में से एक है। कामसूत्र में सेक्स और पारिवारिक जिंदगी से जुड़ी बहुत ही जानकारियां दी गई हैं। कामसूत्र की रचना ऋषि वात्स्यायन ने की है। इस शास्त्र का इस्तेमाल एक सेक्स गाइड के रूप में भी किया जाता है। इसी कामसूत्र को संघ से जोड़ते हुए पूर्व आईपीएस संजीव भट्ट ने यह विवादित बयान दिया है।

ट्वीट कर के संजीव भट्ट को लोगों ने खूब खरी खोटी सुनाई है और सनकी तक कह दिया है। इतना ही नहीं, सोशल मीडिया पर संजीव भट्ट के खिलाफ खूब अपशब्द कहे जा रहे हैं। एक यूजर ने तो यहां तक कहा है कि इन लोगों ने पहले ही काउमसूत्र तैयार कर दिया है, आपको देर से पता चला है।

आपको बताते चलें कि संजीव भट्ट 1988 बैच के एक पूर्व आईपीएस अधिकारी हैं, जिन्हें अनुशासनहीनता के आरोप में सरकार ने बर्खास्त कर दिया था। संजीव भट्ट् ने 2002 में हुए गुजरात दंगों के मामले में उस समय की गुजरात सरकार की भूमिका सवाल उठाया था, जिस समय गुजरात के मुख्यमंत्री पीएम नरेन्द्र मोदी थे।