Published On : Tue, Aug 28th, 2018

ब्रेन डेड मरीज़ की किडनी तीन मरीज़ों में ट्रांस्प्लांट, सफल रहा लीवर ट्रांसप्लांट

नागपुर. अवयव दान को लेकर बढ़ रही जनजागृति का असर अब देखने को मिल रहा है. एक ही समय पर एक ही अस्पताल में लीवर और किडनी का ट्रांसप्लांट होने की यह पहली घटना सोमवार को सामने आई. 64 वर्षीय ब्रेन डेड पिता के अवयव दान करने का बेटियों ने निर्णय लिया और 3 लोगों को जीवनदान मिल गया जबकि 2 अन्य लोगों को आंख की रोशनी भी मिल गई.

सोनेगांव निवासी विजय बड़वाईक के मस्तिष्क में रक्तस्राव होने के बाद उसे अस्पताल में भर्ती किया गया, जहां उसका उपचार चल रहा था, लेकिन उपचार के बाद भी कोई प्रतिसाद नहीं मिल रहा था. लकड़गंज के न्यू इरा हास्पिटल के डाक्टरों ने शनिवार को उसे ब्रेन डेड होने की जानकारी परिजनों को दी. साथ ही अवयव दान के बारे में भी कौंसिलिंग की. बड़वाईक की बेटी नयना दहातोंडे व पौर्णिमा झोडे ने समय न गंवाते हुए अवयव दान करने का निर्णय लिया. हास्पिटल ने जोनल ट्रान्सप्लान्ट कोआर्डिनेशन कमिटी (जेडटीसीसी) अध्यक्ष डा. विभावरी दाणी, सचिव डा. रवि वानखेड़े को अवगत कराया.
जिसके बाद जोनल कॉर्डिनेटर वीना वाठोरे ने फटाफट प्रक्रिया पूर्ण की. इसके बाद न्यू इरा हास्पिटल में ही उपचार ले रही एक महिला में लीवर प्रत्यारोपण तथा इसी अस्पताल में एक पुरुष मरीज में किडनी प्रत्यारोपण किया गया. लीवर प्रत्यारोपण की शल्यक्रिया डा. राहुल सक्सेना ने की.

Advertisement

वहीं किडनी प्रत्यारोपण डा. रवि देशमुख, ड. एस.जे. आचार्य, डा. रोहित गुप्ता, डा. अनिल सिंह ने की. इसमें हृदय प्रत्यारोपण सर्जन डा. आनंद संचेती, न्यूरोसर्जन डा. नीलेश अग्रवाल व कार्डीओलाजिस्ट डा. निधीश मिश्रा ने भी मदद की. वहीं दूसरी किडनी वोक्हार्ट हास्पिटल में एक मरीज को दी गई. नेत्रदान माधव नेत्रपेढी तथा त्वचा दान आरेंज सिटी हास्पिटल को की गई.

Advertisement

अब तक 12 लीवर व 68 किडनी ट्रांसप्लांट
पुणे, मुंबई जैसे बड़े शहरों की तुलना में अब आरेंज सिटी भी अवयव दान के मामले में पीछे नहीं है. लोगों में जागृति और महत्व समझने के बाद ब्रेन डेड मरीजों के परिजन अपनी इच्छा से अवयव दान के लिए आगे आ रहे हैं.

इसे अच्छी पहल माना जा रहा है. अकेले न्यू इरा हास्पिटल में 4 महीने में 10 ट्रांसप्लांट हुए हैं. वहीं सिटी में इस वर्ष कुल 12 प्रत्यारोपण हुए. किडनी ट्रांसप्लांट में आरेंजसिटी अव्वल बन रही है. अब तक 68 किडनी ट्रांसप्लांट की जा चुकी है.

Advertisement

Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement