Published On : Thu, Aug 26th, 2021

NELCO का OXYGEN ZONE खतरे में

– नागपुर सुधार प्रन्यास – मनपा अधिकारी-पदाधिकारी खुली जगह आरक्षण की आड़ में BUILDER को बेचने के फ़िराक में सक्रीय

नागपुर – आज के युग में उपजी आपदा से निपटने के लिए OXYGEN ZONE के निर्माण पर केंद्र सह राज्य सरकार गंभीरता दिखा दिखा रही,जो सराहनीय है तो दूसरी ओर नागपुर की नागपुर सुधार प्रन्यास और महानगरपालिका वर्षों से सकारात्मक भूमिका निभाने वाली OXYGEN ZONE को बर्बाद करने कदम-दर-कदम आगे बढ़ती जा रही.ऐसा ही कुछ आलम है पूर्व मुख्यमंत्री व विपक्ष नेता देवेंद्र फडणवीस के निर्वाचन क्षेत्र की.इसके खिलाफ NELCO SOCIETY ने लगभग आधा दर्जन जनप्रतिनिधियों से मुलाकात कर आने वाले प्रकल्प पर रोक लगाने की मांग की लेकिन अभी तक इस सम्बन्ध में कोई ठोस कदम नहीं उठाया जाना केंद्र व राज्य सरकार के प्रयासों पर पानी फेरने का मंसूबा नज़र आ रहा.

NELCO सोसाइटी की मैदान का इतिहास

प्राप्त जानकारी के अनुसार नागपुर के दक्षिण-पश्चिम विधानसभा क्षेत्र जिसका नेतृत्व राज्य विधानसभा में विपक्ष नेता देवेंद्र फडणवीस करते है.इस विधानसभा क्षेत्र अंतर्गत NELCO SOCIETY और NAIK लेआउट के लगभग 500 प्लॉट धारकों की संयुक्त रूप से परिसर के बीचोबीच एक COMMON OPEN SPACE है.

उक्त क्षेत्रफल के अलावा इस मैदान में एक विशाल और बहुत पुराना कुंआ है,जिसे नासुप्र ने फेंसिंग करते वक़्त बाहर कर दिया गया.इसी मैदान का एक टुकड़ा NELCO SOCIETY ने बिजली विभाग को SUB STATION के लिए दिए है.इतना ही नहीं क्यूंकि यह क्षेत्र नासुप्र के अधीन आता है इसलिए तत्कालीन नासुप्र विश्वस्त के परिजन के नाम इसी मैदान का एक हिस्सा काट कर प्लॉट में तब्दील कर उन्हें दे दिया गया और तो और उनके प्लॉट की फेंसिंग नासुप्र ने करवा कर दी थी.

उक्त मैदान की उक्त कटौती बाद यह लगभग 1.25 हेक्टर का क्षेत्र और पूर्णतः हरियाली से लबरेज है.जिसका सदुपयोग आसपास के हज़ारों नागरिक व युवा वर्ग कर रहे है.

तब नासुप्र ने इस सवा हेक्टर खुले भूखंड की फेंसिंग के लिए 10 लाख रूपए खर्च किया था.तो मनपा ने कुंए की सफाई और मैदान में ग्रीन जिम लगाया था,मनपा बिजली विभाग ने मैदान के भीतर दर्जन से ज्यादा इलेक्ट्रिक पोल और हाईमास्ट लाइट का पोल खड़ा किया था,इन सभी पर एक विशेष कार्यक्रम के लिए लाइट भी लगाई गई थी फिर कार्यक्रम के समापन बाद लाइट निकाल लिया गया था,तब से खंबे ठूंठ से खड़े चिढ़ा रहे.इतना ही नहीं इस परिसर में तत्कालीन मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के विशेष निधि से WALKING TRACK का निर्माण भी किया गया था.

और तो और इस खुले जगह के आधार पर सोसाइटी के लेआउट को मंजूरी मिली थी.जिसका DEVELOPMENT CHARGES प्लॉट धारकों से वसूला गया था.सोसाइटी ने मैदान के रखरखाव के लिए एक क्रिकेट क्लब को जगह दिया है.

NIT-NMC की योजना

जमीन गायब करने/हड़पने/विकास निधि वसूल करने बाद विकास निधि कही और खर्च करने वाली NIT ने MRTP ACT 1966 UNDER SECTION-37 के तहत उक्त ओपन प्लॉट पहले से प्रायमरी स्कूल और लाइब्रेरी का आरक्षण हटाकर पब्लिक-सेमी-पब्लिक का आरक्षण लाधने की योजना पर सक्रियता देखी जा रही है.

इसके साथ ही इसी सोसाइटी की एक अन्य खुली जगह पर पहले से ही पार्किंग का आरक्षण था,जिसे भी हटा कर उक्त आरक्षण के साथ जोड़ने पर कागजी पहल शुरू है.इसके आरक्षण हटते ही यह जगह रहवासी उपयोग का आरक्षण लाध किसी बिल्डर को बेचने की साजिश की बू आ रही.इससे पहले कुछ वर्ष पूर्व इसी परिसर का आधा हिस्सा 2 बिल्डर के हवाले किया जा चूका है.

NIT ने उक्त साजिश के तहत उक्त बदलाव के लिए NMC को पत्र दिया,जिसे NMC ने आनन्-फानन में जनवरी 2021 की आमसभा में मंजूरी प्रदान कर आगे की कार्यवाही के लिए आगे बढ़ा दिया।इसके बाद मनपा के विवादास्पद आयुक्त ( सत्ताधारी और विपक्ष आयुक्त के नित को लेकर काफी कश्मकश में है कि आयुक्त किसके पक्ष में सक्रिय है ) समाचारपत्र में नोटिस जारी कर SUGGESTION-OBJECTION के लिए 1 माह का अवसर दिया। इसके बाद NELCO SOCIETY ने आयुक्त के नाम एक पत्र जारी कर सेक्शन-37 की कार्यवाही का विरोध दर्शाया।

साजिश
समझा जाता है कि उक्त बड़े खुले मैदान किसी बड़े ( जिनसे डील हुई है) बिल्डर के हवाले किया जाना है.उसे नियम में बिठाने की कोशिश बड़ी बारीकी से शुरू है.जिसमें नासुप्र/मनपा प्रमुख की अहम् भूमिका है.तय बिल्डर को यहाँ तय आरक्षण के तहत पार्किंग/हॉस्टल निर्माण का ठेका बिना निधि दिए दिया जायेगा,उसके एवज में शेष भूखंड दे दिया जाएगा,जिसका उपयोग विशालकाय फ्लैट स्कीम या फिर प्लॉट बनाकर बिक्री की जा सकती है.आज की सूरत में NELCO SOCIETY के जमीन का बाजार भाव 8000 रूपए वर्ग फुट है.और यहाँ का बड़ा सा खुली जगह एक बड़ा OXYGEN PATCH है,जिस पर खतरा बुरी तरह मंडरा रहा.