Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!
    | | Contact: 8407908145 |
    Published On : Thu, Aug 30th, 2018

    जेईई, नीट के विद्यार्थियों को एनटीए के माध्यम से मिलेगी मुफ्त सरकारी कोचिंग

    नागपुर: उच्च शिक्षा प्राप्त करने के लिए परीक्षाएं देने वाले छात्रों के लिए एक अच्छी खबर है. अब अगले साल यानी 2019 से उच्च शिक्षा के लिए होने वाली प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए मुफ्त सरकारी कोचिंग उपलब्ध कराई जाएगी. यह संभव हो पाएगा नेशनल टेस्टिंग एजेंसी की वजह से, जिसका गठन सरकार ने उच्च शिक्षण संस्थानों में प्रवेश के लिए होने वाली प्रतियोगी परीक्षाओं को आयोजित करवाने के लिए किया है. मुफ्त सरकारी कोचिंग के लिए एनटीए (नेशनल टेस्टिंग एजेंसी) अपने 2,697 प्रैक्टिस सेंटरों को अगले साल से टीचिंग सेंटरों में तब्दील करेगी.

    मानव संसाधन विकास मंत्रालय से जुड़े अधिकारियों के अनुसार ये प्रैक्टिस सेंटर 8 सितंबर से काम करना शुरू करेंगे.यह प्राइवेट कोचिंग सेंटरों के लिए बुरी खबर है, जो छात्रों से मोटी फीस लेकर प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए तैयारी करवाते हैं. इन टीचिंग सेंटरों में टीचिंग प्रोसेस मई 2019 से शुरू होगी.

    पहले चरण में एनटीए आने वाले जेईई-मेन (JEE-Main 2019) के लिए छात्रों का मॉक टेस्ट कराएगा. जो छात्र मोबाइल ऐप और वेबसाइट के जरिए एनटीए के लिए रजिस्टर कराएंगे, वे National Eligibility cum-Entrance Test-UG (NEETUG) और UGC-NET के लिए आयोजित किए जाने वाली मॉक परीक्षा में भाग ले सकते हैं. साथ ही वे अपने रिजल्ट को एनटीए के टीचर्स के साथ डिस्कस कर सकते हैं ताकि उन्हें अपनी गलतियों का पता चल सके .

    इन प्रैक्टिस सेंटरों पर होने वाली मॉक परीक्षाओं में स्लॉट पाने के लिए छात्रों को मोबाइल ऐप या फिर नैशनल टेस्टिंग एजेंसी की ऑफिशियल वेबसाइट के जरिए रजिस्टर कराना होगा. रजिस्टर्ड छात्रों को ही मॉक परीक्षा में बैठने का मौका मिलेगा. रिजल्ट आने के बाद सेंटर के टीचर छात्रों को उनकी गलतियां समझने और उन्हें सुधारने में मदद करेंगे.

    मंत्रालय के अधिकारियों के अनुसार प्लान यह है कि इन सेंटरों को महज प्रैक्टिस सेंटर न बनाकर टीचिंग सेंटर बना दिया जाए. ये सेंटर कोई फीस भी नहीं लेंगे. इसका फायदा खासकर ऐसे टैलंटेड छात्रों को होगा, जिनके ख्वाब तो बेहद ऊंचे हैं, लेकिन आर्थिक परेशानियों की वजह से कोचिंग नहीं ले पाते. गांवों और शहरों के बाहरी इलाकों में रहने वाले छात्रों को इससे फायदा होगा.

    एचआरडी मिनिस्ट्री के अधिकारी के अनुसार ‘प्रैक्टिस सेंटर पहली बार छात्रों को सिर्फ और सिर्फ JEE-Main के लिए मॉक परीक्षा देने का मौका देगा.

    चूंकि नीट-यूजी (NEET-UG) फिलहाल कंप्यूटर आधारित परीक्षा नहीं है, इसलिए इसके लिए कोई मॉक परीक्षा नहीं होगी. बता दें कि एनटीए मोबाइल ऐप और वेबसाइट 1 सितंबर को लॉन्च करेगी और उसी दिन एजेंसी UGC-NET 2018 और JEE-Main के ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन के लिए प्रक्रिया शुरू करेगी. ये रजिस्ट्रेशन 30 सितंबर तक चलेंगे .


    Stay Updated : Download Our App
    Mo. 8407908145