Published On : Tue, Jan 2nd, 2018

Video: लाइव कवरेज के दौरान रिपोर्टर से छेड़छाड़, फेसबुक पर लिखी आपबीती


साल 2017 की शुरुआत कुछ अच्छी नहीं हुई थी। बेंगलुरू का पॉश इलाका माने जाने वाले एमजी रोड पर महिलाओं के साथ मास मोलेस्टेशन हुआ था। जिसने पूरे देश को शर्मिंदा कर दिया था। साथ ही ये बहस शुरू हो गई थी कि बेंगलुरू जैसे बड़े और एजुकेटेड शहर में महिलाएं सुरक्षित नहीं है। साल 2018 की शुरुआत हो चुकी है लेकिन कुछ लोगों के लिए फिर से साल का पहला दिन बुरा साबित हुआ है। फिर से जश्न के नाम पर एक लड़की मोलेस्ट हुई है।

निधि श्री नेशनल न्यूज चैनल के लिए काम करती हैं। उन्होंने फेसबुक पर पोस्ट लिखकर आपबीती शेयर की है, जिसमें वो लिखती हैं कि कैसे शिमला में न्यू इयर कवरेज के दौरान उन्हें एक बंदे ने हैरेस किया। और जब निधि उसे उसकी इस हरकत के लिए थप्पड़ मारती हैं तो वो बंदा अपनी हरकतों पर शर्मिंदा होने का बजाए निधि को सिर पर मार भाग जाता है। निधि के साथ ये सबकुछ तब हुआ जब वो शिमला के रिज से न्यू इयर सेलिब्रेशन का लाइव कर रही थीं।

निधि अपने फेसबुक वॉल पर लिखती हैं,

न्यू इयर कवरेज के लिए शिमला आयी हूँ.कल रात की घटना है वीडियो के साथ पूरी घटना बेझिझक आप सबके साथ साझा करना चाहूँगी.जश्न की लाइव तस्वीर दर्शकों तक पहुँचाने के लिए शिमला में हमने रिज को बतौर लोकेशन चुना था क्योंकि वहाँ न्यू इयर सेलिब्रेशन को लेकर ख़ूबसूरत नज़ारा था.

हमने top angle view लिया क्योंकि वहाँ भीड़ कम थी और शूट भी बेहतर हो सकता था.पर मीडिया और कैमरा देखकर धीरे धीरे वहाँ भी लोग इकट्ठा होने लगे थे.लाइव से पहले वाक्थ्रू के वक़्त किसी नशे में धुत्त इंसान (ये मैं consider कर रही हूँ) ने मुझे पीछे से छूने की कोशिश की थी तब मैंने चेतावनी देकर शूट की जगह बदल दिया था.

ख़ैर 11 बजे हम लाइव पर थे,और मेरे सहयोगी @pravin dixit ने कैमरा पैन किया.तभी मुझे किसी ने बैक पर मारा((आप स्पैंक करना समझते हैं???))

मैं कुछ सेकेंड्स के लिए ब्लैंक हो गयी.मैंने लाइव के दौरान ही उस लड़के को थप्पड़ मारा.लड़के ने भी पलट कर मेरे सिर पर मारा और भाग गया.ख़ैर किसी तरह मैंने लाइव ख़त्म किया…पर उस वक़्त जो मैं महसूस कर रही थी वो बहुत बुरा था..बहुत ज़्यादा! जब आप करियर के शुरुआती दिनों में होते हैं तो कई बातें दिमाग़ में चलती है.ख़ासकर तब जब आपके साथ लाइव शूट के दौरान ऐसे कोई घटना हो जाए.पर ज़रूरी है कि आप अपनी सुरक्षा को प्राथमिकता दें.

इस तरह की घटना कोई नई नहीं है.अगर ड्यूटी पर नहीं होती तो शायद ये सुनने मिलता कि भीड़भाड़ वाली जगह पर मुझे जाना ही नहीं चाहिए था.कल रात से अबतक यही घूम रहा है दिमाग़ में…आपका लड़की होना अगर आपके लिये मज़बूती है तो कईयों के लिए महज़ एक कमज़ोरी! नववर्ष की हार्दिक शुभकामनाएँ सभी को..

निधि के साथ हुई छेड़खानी ने ये साबित किया है कि आईटी हब कहा जाने वाला बेंगलुरू हो शिमला का रिज या फिर किसी छोटे शहर का चौक-चौराहा, लड़कियों की हालत एक जैसी ही है। हर दिन कोई ना कोई लड़की मास मोलेस्टेशन या ईव टिजिंग का शिकार हो रही है। नए साल के इस जश्न के नाम पर न जाने कितनी लड़कियां मोलेस्ट हुई होंगी और साल का पहला दिन ही उनके लिए एक बुरी याद बनकर रहा जाएगा।

लेकिन हर लड़की के अंदर निधि जैसी हिम्मत नहीं होती कि वो अपनी साथ हुए गलत के खिलाफ आवाज़ उठाए। क्योंकि शुरु से उन्हें चुप रहना जो सिखाया जाता है। ऐसे में निधि की हिम्मत की दाद देनी चाहिए जो उन्होंने ने ना सिर्फ खुद के साथ हुई छेड़खानी का पुरजोर तरीके से विरोध किया बल्कि खुद के लिए खड़ी हुईं।

निधि ने अपनी आपबीती के साथ उस घटना की वीडियो भी शेयर की है, जो आप यहां देख सकते हैं