Published On : Mon, Nov 22nd, 2021

नागपुर को किश्तों में मिलेगी 40 इलेक्ट्रिक बसें

– मूल ठेकेदार कंपनी OLECTRA GREENTECK LIMITED (OGL) ने मनपा आयुक्त को दिया एक और प्रस्ताव,वह यह कि फरवरी व मार्च में कुछ और शेष अप्रैल में आपूर्ति करेंगे

नागपुर – नीति आयोग के तहत नागपुर मनपा को 100 अनुदानित बसें मंजूर 2 वर्ष पूर्व की गई थी,लेकिन आजतक नैसर्गिक सह तकनीकी दिक्कतों के कारण मनपा के बेड़े में बसें शामिल नहीं हो पाई,हालांकि तत्कालीन मनापायुक्त ने 100 में से सिर्फ 40 वह भी इलेक्ट्रिक बसें खरीदने की अनुमति दी थी। टेंडर लेने वाली कंपनी को केंद्र द्वारा प्राप्त अनुदान मनपा के मार्फत कुछ माह पहले ही दिया जा चुका हैं। अब उन्होंने फरवरी व मार्च 2022 में कुछ और अप्रैल में शेष बसें देने संबंधी एक नया प्रस्ताव मनापायुक्त को दिया,समाचार लिखे जाने तक मनपा आयुक्त की मंजूरी नहीं मिली है। नागपुर जिले के पर्यावरण को वाहनों के प्रदुषण से मुक्ति दिलवाने के लिए मनपा प्रशासन जरा सब्र करे तो जनहित में लाभकारी साबित हो सकता हैं.

नागपुर मनपा को FAME 2 के तहत 100 बसें मंजूर की गई है।लेकिन तत्कालीन आयुक्त ने मनपा की कड़की को देखते हुए सिर्फ 40 बसें खरीदने के प्रस्ताव को सहमति प्रदान की,वह भी इलेक्ट्रिक बसें।

जब निर्णय हुआ तो अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कोरोना का कहर सर चढ़ के बोल रहा था.इलेक्ट्रिक बसों का देश में निर्माण नहीं होता था.इसलिए केंद्र सरकार ने FAME 1 योजना के तहत एक फार्मूला लाया कि ऑटोमोबाइल क्षेत्र के भारतीय उद्योगपतियों को 70% विदेशी कंपनी के साथ COLA BORATION कर इलेक्ट्रिक बसें तैयार कर आपूर्ति करनी होगी।

वहीं दूसरी ओर FAME 2 योजना में सरकार ने नियमों में फेरबदल कर 30 % कलपुर्जे विदेशी कंपनी से मंगवाकर देश में इलेक्ट्रिक बसों का निर्माण की शर्त रखी.


याद रहे कि नीति आयोग के तहत FAME 2 अर्थात आत्मनिर्भर योजना के तहत नागपुर शहर को अनुदानित 100 बसें देने का निर्णय लिया गया.जिसमें से 40 ELECTRIC BUSES खरीदने के निर्णय बाद हैदरबाद के OLECTRA GREENTECH LIMITED (OGL) से टेंडर प्रक्रिया के तहत लेने व उनकी सहयोगी कंपनी EVEY TRANS द्वारा बसों के संचलन का करार हुआ.

उक्त निर्माता कंपनी को विश्वव्यापी महामारी कोरोना काल में बसों के निर्माण में नाना प्रकार की अड़चनों का सामना करना पड़ रहा हैं.जैसे इलेक्ट्रिक बसों के निर्माण हेतु सबसे अहम् सामग्री SEMI CONDUCTOR की कमी,यह GOLBALLY PRODUCTION DOWN होने के कारण काफी SORTAGE हो गया हैं.

इसके बाद देश में तैयार होने वाली इलेक्ट्रिक बसों को ARAI सर्टिफिकेट(HOMOLOGATION CERTIFICATE) के लिए सम्बंधित केंद्र सरकार के विभाग के समक्ष आवेदन करना हैं,इसे मंजूरी मिलने में लगभग 2 माह का समय लगता हैं.

इसलिए OLECTRA GREENTECH LIMITED ने गत सप्ताह मनपा प्रशासन से कुछ और दिनों के लिए EXTENSION की मांग की हैं,भविष्य में पर्यावरण को प्रदुषण मुक्त रखने के उद्देश्य से मनपा प्रशासन ने मांगी गई अतिरिक्त समय को मंजूरी प्रदान करना चाहिए।ऐसी ही मांग पुणे मनपा से की गई थी,उन्हें 500 बसों की आपूर्ति करनी है,पुणे मनपा ने सहर्ष अनुमति प्रदान कर दी हैं.

OGL ने पत्र में यह भी अंकित किया है कि वे फरवरी-मार्च 2022 में कुछ और अप्रैल 2022 ने शेष इलेक्ट्रिक बसों की आपूर्ति कर देंगे।

उल्लेखनीय यह है कि OGL ने नागपुर मनपा क्षेत्र में इसके पूर्व 6 इलेक्ट्रिक बसों की आपूर्ति सह सफल संचलन कर रही हैं.

– राजीव रंजन कुशवाहा