Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!
    | | Contact: 8407908145 |
    Published On : Fri, Jun 8th, 2018

    आर्थिक परेशानी के बावजूद ख़ुशी ने हासिल किए 93.20 % मार्क्स

    नागपुर: महाराष्ट्र बोर्ड ने एसएससी यानी 10वीं क्लास का रिजल्ट घोषित कर दिया गया है. आर्थिक परेशानियों के बावजूद भी कई बच्चे ऐसे होते है जो अपनी लगन और मेहनत से परेशानियों को भी मात दे देते है. ऐसी ही रामदासपेठ के सोमलवार हाईस्कूल स्कुल में पढ़नेवाली ख़ुशी सुके ने दसवीं की परीक्षा में 93.20 % मार्क्स हासिल किए है. ख़ुशी की यह सफलता इसलिए मायने रखती है क्योकि ख़ुशी के पिता रविंद्र एक ऑटोचालक है और उसकी माँ शारदा एक गृहिणी है. घर की परिस्थिति ठीक नहीं होने के बावजूद भी ख़ुशी ने अपनी मेहनत के बल पर आज यह सफलता हासिल की है.

    उसने हिम्मत न हारते हुए अपनी माता पिता का सिर गर्व से ऊंचा किया है. अपने स्कुल में पहुंची पिता के साथ ख़ुशी के चेहरे पर आत्मविश्वास साफ़ झलक रहा था साथ ही इसके उसके पिता रविंद्र के चेहरे पर भी अलग ही ख़ुशी नजर आयी. ख़ुशी ने ‘ नागपुर टुडे’ से बातचीत करते हुए बताया कि रोजाना वह 3 से 4 घंटे पढ़ाई करती थी. उसकी पढ़ाई में स्कुल के शिक्षकों ने काफी मदद की. ख़ुशी ने बताया की उसे कॉमर्स लेकर आईपीएस बनने की इच्छा है.

    दुर्घटना होने के बाद भी कौस्तुभ ने हासिल किए 97.20 % प्रतिशत मार्क्स

    दुर्घटना होने के बावजूद भी रामदासपेठ स्थित सोमलवार हाईस्कुल में पढ़नेवाले कौस्तुभ मनोहर वैद्य ने 97.20 % प्रतिशत मार्क्स हासिल किए है. कौस्तुभ का पिछले वर्ष एक्सीडेंट हुआ था. दो महीने तक उसे डॉक्टर ने बेड रेस्ट करने के लिए कहा था. इस दौरान उसके ऑपरेशन भी हुए थे. उसके बाद स्कुल आने पर स्कुल ने उसकी काफी मदद की और उसका क्लासरूम निचे ग्राउंडफ्लोर पर कर दिया.अपनी जिद और लगन की बदौलत कौस्तुभ ने खुद के साथ हुई दुर्घटना से बाहर निकलकर मेहनत और लगन से दसवीं की परीक्षा में बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए अपने माता पिता का नाम रोशन किया है. कौस्तुभ के पिता सरकारी कर्मचारी है और माता प्रीति वैद्य गृहिणी है. कौस्तुभ को कंप्यूटर इंजीनियर बनना है.


    Stay Updated : Download Our App
    Mo. 8407908145