Published On : Sun, Jul 18th, 2021

नागपुर शहर के वाडी पुलिस स्टेशन को जानिये

Advertisement

भाग 23 : वाडी पुलिस स्टेशन

वाडी पोलिस स्टेशन , नागपुर शहर

नागपुर टुडे : शहर के वाडी पुलिस स्टेशन की स्थापना 21 जून, 1969 को की गई थी आज वर्तमान में वाडी पुलिस स्टेशन का नेतृत्व वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक (पीआई) प्रदीप बालसो सूर्यवंशी (2006 बैच के अधिकारी) कर रहे हैं। श्री. सूर्यवंशी के बारे में अल्प शब्दो मे यदि कहा जाए तो वे स्वभाव से नर्ममिजाज और मृदुभाषी है मगर इलाके में कड़ी कानून व्यवस्था को लागू करने के मामले मे पुलिस विभाग में उन्हें बेहद सख्त पुलिस अधिकारी के रूप में जाना-पहचाना जाता है । वाडी पुलिस स्टेशन कुल 98 स्टाफ सदस्यों और 11 पुलिस अधिकारियों के साथ 24 घंटे काम करता है।

वरिष्ठ पोलिस निरीक्षक प्रदिप सुर्यवंशी, वाडी पोलिस स्टेशन , नागपुर शहर

इस पुलिस स्टेशन की हद में वाडी नाका नंबर 10 – वडधामना (पुर्व – पच्छीम) और लावा गांव – एमआईडीसी टोल नाका (उत्तर-दक्षिण) के बीच का एक बड़ा क्षेत्र शामिल है, जिसकी 10 किलोमीटर की चौड़ाई साथ ही लगभग 2 लाख की घनी आबादी इस इलाके में रहती है। कंट्रोल वाडी और आठवा मैल वाडी पुलिस के अधीन सबसे संवेदनशील क्षेत्र माने जाते हैं।

Advertisement
Advertisement

वाडी पोलिस स्टेशन परिसर का नक्शा

वाडी पुलिस क्षेत्राधिकार में नागपुर नगर निगम (काशीमेट एंड पॉपुलर सोसाइटी), वाडी नगर परिषद (कंट्रोल वाड़ी, दत्तवाड़ी, धम्मकीर्ति नगर) और ग्रामपंचायत क्षेत्र (लावा, सुराबर्डी, वडधामना, नगरवाड़ी और बोधाले) आदि शामिल हैं।

वाडी पुलिस स्टेशन के डीबी टीम के साथ डीबी इंचार्ज पुलिस सबइंस्पेक्टर ( psi) साजिद अहमद , मोबाईल नंबर – 8668602403

इस पुलिस स्टेशन के क्षेत्र में कुल चार बीट कार्यरत हैं 1) कंट्रोल वाडी बीट (बीट मार्शल – नायक पोलिस कॉन्स्टेबल भास्कर राउत – मोबाइल 9011163052) 2) दत्तवाडी बीट (बीट मार्शल – नायक पोलिस कॉन्स्टेबल अमोल मरसकोल्हे – मोबाइल: 9823878195) 3) आठवामैल बीट (बीट मार्शल – पोलिस कॉन्स्टेबल अजय पाटिल – मोबाइल) : 8600348450) और नंबर 4) वडधामना बीट (बीट मार्शल – नायक पोलिस कॉन्स्टेबल रवींद्र सातोरकर – मोबाइल:9923796226)। युवा पीएसआई साजिद अहमद (मोबाइल: 8668602403) वाडी पुलिस स्टेशन के डीबी दस्ते का नेतृत्व करते हैं।

दत्त वाडी बीट- ( बीट मार्शल- नायक पुलिस कॉन्स्टेबल अमोल मरसकोल्हे , मोबाईल नंबर -9823878195 )

आठवा मैल बीट- ( बीट मार्शल- पुलिस कॉन्स्टेबल अजय पाटील , मोबाईल नंबर -8600348450)

नागपुर टुडे से बात करते हुए, पीआई प्रदीप सूर्यवंशी ने बताया की कि कैसे वाडी पुलिस ने आसपास के इलाकों में सड़क दुर्घटनाओं सहित अपराधों की रोकथाम के लिए कई पुख्ता उपाययोजना की हैं। पुलिस आयुक्त (सीपी), अमितेश कुमार, पुलिस उपायुक्त (डीसीपी) जोन 1, नूरुल हसन के निर्देशों के बाद क्षेत्र में कुख्यात अपराधियों के खिलाफ कार्रवाई तेज कर दी गई है। यह कदम कारगर साबित हुआ है क्योंकि जब से पीआई प्रदीप सूर्यवंशी ने अपना कार्यभार संभाला है, वाडी पुलिस स्टेशन परिसर में आपराधिक गतिविधियों में काफी कमी आई है । जिसका श्रेय वे अपने सहकर्मियों तथा वरिष्ठ अधिकारियों को देते है ।

कंट्रोल वाडी बीट- ( बीट मार्शल- नायक पुलिस कॉन्स्टेबल भास्कर राऊत , मोबाईल नंबर – 9011163052)

वडधामना बीट- ( बीट मार्शल- नायक पुलिस कॉन्स्टेबल रविंद्र सटोरकर , मोबाईल नंबर -9923796226 )

पुलिस और नागरिकों के बीच की खाई को कम करने के लिए, पीआई प्रदीप सूर्यवंशी ने पदभार संभालते ही सबसे पहले अपना निजी मोबाइल नंबर – 9823899325 स्थानीय लोगों के साथ साझा कर दिया है और उन्हें सलाह दी है कि अपराध से संबंधित या किसी भी आपात स्थिति में यदि कोई व्यक्ति किसी गोपनीय जानकारी उनसे साझा करना चाहता है तो बेझिझक उन्हें सीधे कॉल करके जानकारी दे सकता है । जानकारी देनेवाले का नाम हमेशा गोपनीय रखा जाएगा ऐसा उन्होंने आश्वासन दिया है । इसीतरह कोई भी नागरिक 24 घंटे वाडी पुलिस से उनके लैंडलाइन नंबर: 0712-4220928 पर संपर्क भी कर सकता है।

सड़क हादसों पर अंकुश लगाने के लिए विशेष नाकाबंदी :

आज वाडी पुलिस थाना क्षेत्राधिकार में सबसे बड़ी चुनौती यानी यहां की बढ़ती यातायात व्यवस्था है । नागपुर-अमरावती हाइवे पर आएदिन बढ़ते यातायात को सुचारू तरीके से संभालले के लिए स्थानीय पुलिस को काफी मशक्कत करनी पड़ती है । पुलिस स्टेशन के सामने से ही मुंबई की ओर जानेवाला अमरावती हाइवे है जहां 24 घंटे छोटे-बड़े सभी वाहनों का आवागमन लगा रहता है जिसकी वजह से कई बार वाहनचालकों की गलती से गंभीर सड़क दुर्घटनाएं हो जाती है । श्री.सूर्यवंशी बताते है कि, आएदिन इन बढ़ती सड़क दुर्घटनाओं में बड़े पैमाने पर हो रही वृद्धि की वजह से हम चिंतित है इसे रोकने हेतु हम वाहनों की गति को कम करने के लिए व्यस्त समय के दौरान सड़को पर बेरिगेट लगाकर दैनिक नाकाबंदी करते हैं ताकि वाहन चालकों की गति पर लगाम लग सके । राष्ट्रीय राज्यमार्ग 6 आवागमन पर वाहनों की अत्यधिक भीड़ बढ़ने के कारण इसे दुर्घटना संभावित क्षेत्र माना जाता है। इसलिए हमने इस परिसर में 24 घंटे दिन और रात की पुलिस गश्त बढ़ा दी है। मैंने अधिकारियों को ड्राइव के दौरान मोटर चालक को परेशान न करने का भी निर्देश दिया है। पीआई सूर्यवंशी का कहना है कि इस कदम से हमें दुर्घटनाओं पर अंकुश लगाने में बहुत मदद मिली है।

फुट पेट्रोलिंग वाडी पोलिस स्टेशन के अधिकारी तथा कर्मचारी

क्षेत्र में आपराधिक अनियमितताओं को रोकने के लिए कड़ी निवारक कार्रवाई :

“वाडी पुलिस स्टेशन अधिकार क्षेत्र के तहत सख्त कानून व्यवस्था को लागू करने के लिए स्थानीय पुलिस ने मा.सीपी अमितेश कुमार और मा.डीसीपी नूरुल हसन की देखरेख में क्षेत्र में रिकॉर्ड अपराधियों, अवैध शराब और जुआ कारोबार के खिलाफ संगठित कार्रवाई शुरू कर रखी है। पीआई सूर्यवंशी ने कहा कि स्थानीय निवासियों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए वाडी पुलिस ने तीन कुख्यात अपराधियों को जिलाबदर कर दिया है। पीआई प्रदीप सूर्यवंशी ने कहा, “वाडी पुलिस ने इस साल रिकॉर्ड अपराधियों के खिलाफ लगभग 100 से अधिक प्रतिबंधक कार्रवाई की है जिसकी वजह से इलाके में शांति का माहौल है ।

स्थानीय बातचीत का महत्व :

इलाके में आएदिन शांतता मीटिंग्स, मोहल्ला मीटिंग्स और सीनियर सिटीजन मीटिंग्स के अलावा उनकी शिकायतों को सुनने के लिए, वाडी पुलिस नागरिकों, स्थानीय नगरसेवकों, सामाजिक कार्यकर्ताओं और व्यापार मालिकों के साथ बातचीत करना सुनिश्चित करती है ताकि उनके प्रश्नों का निराकरण किया जा सके। इसके अलावा वाडी पुलिस ने नागरिकों की शिकायतों को जल्द से जल्द दूर करने के लिए कई व्हाट्सएप ग्रुप बनाए हैं जिसका उन्हें लाभ भी मिल रहा है ऐसा पीआई सूर्यवंशी ने बताया ।

नागरिकों की समस्या सुनते हुवे – वरिष्ठ पोलिस निरीक्षक प्रदीप सुर्यवंशी , वाडी पोलिस स्टेशन , नागपुर शहर

नागरिकों को उनके क्षेत्रीय पुलिस स्टेशन के बारे में सूचित करने के लिए, नागपुर टुडे एक विशेष श्रृंखला के साथ आया – अपने पुलिस स्टेशन को जानिये – आम जनता के लिए पुलिस स्टेशन के बारे में सभी आवश्यक जानकारी को सक्षम करने के लिए। रिपोर्ट में आपको संबंधित पुलिस थानों के पुलिस निरीक्षक, किसी आपात स्थिति में उनसे संपर्क करने के तरीके, क्षेत्र में अधिकारी के भविष्य के लक्ष्यों आदि के बारे में जानकारी मिलेगी।

– रविकांत कांबले

Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement